इंदिरा गांधी होती तो किसकी मजाल थी.?

इंदिरा गांधी होती तो किसकी मजाल थी.?

कृष्ण कल्पित।। हमारी बात का उस मिस पे कुछ का़बू नहीं चलताजहां बंदूक चलती है वहां जादू नहीं चलता ! अकबर इलाहाबादी कहते हैं कि जादू की भी एक सीमा होती है और अंतत: जादू झूठ पर आधारित होता है । जादू नज़रों का धोखा/फ़रेब होता है । मज़बूरी का नाम महात्मा गांधी तो सुना था लेकिन कांग्रेस आलाकमान इतना मज़बूर पहले कब था ? यह कांग्रेस आलाकमान की मज़बूरी ही है कि उसे अशोक गहलोत को क्लीन चिट देनी पड़ी है । इंदिरा गांधी होती तो अब तक सबकी बोलती बंद हो चुकी होती । जैसे कांग्रेस आलाकमान मज़बूर...

अब जादूगर ख़ुद एक साधारण दर्शक है !

अब जादूगर ख़ुद एक साधारण दर्शक है !

कृष्ण कल्पित।। मूर्ख सलाहकारों, महत्वाकांक्षी मंत्रियों और चाटुकार अफ़सरों के कारण जादूगर ने अपनी वह जादुई ‘सोनिया-छड़ी’ गंवा दी, जिससे वह जादू दिखाया करता था । इस आत्मघाती कृत्य को जापानी भाषा में हाराकिरी कहा जाता है । मैं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का सलाहकार नहीं ! फिर भी मैं सलाह दे रहा हूं कि अशोक गहलोत को यदि अपनी (बचीखुची) साख बचानी है तो उन्हें तुरंत प्रभाव से शांति धारीवाल, महेश जोशी और प्रताप सिंह खाचरियावास को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करना चाहिए । एक कोई सुभाष गर्ग भी बताया जाता है, और भी कई हैं । उन्हें अपने सारे लालची,...

अंकिता भंडारी हत्याकांड से उपजा आक्रोश..

अंकिता भंडारी हत्याकांड से उपजा आक्रोश..

शकील अख्तर।। उत्तराखंड के अंकिता भंडारी हत्याकांड पर आम लोगों, खासकर युवतियों का गुस्सा उसी तरह अब सरकार और प्रशासन के खिलाफ फूट रहा है, जैसा निर्भया कांड के वक्त देखा गया था। उस समय दिल्ली और केंद्र दोनों जगह कांग्रेस की सरकार थी और उसके खिलाफ माहौल बनाने की शुरुआत भाजपा समेत तमाम कांग्रेस विरोधियों ने कर ही दी थी। निर्भया कांड से इस विरोध को तेज करने का एक और मौका मिला और उसके बाद जनाक्रोश को कांग्रेस को सत्ता से बेदखल करने के लिए इस्तेमाल किया गया। हालांकि निर्भया मामले में कांग्रेस ने कार्रवाई करने में कोई...

अब घर बैठे सुप्रीम कोर्ट की बहस सुनना, न्याय होते देखना मुमकिन..

अब घर बैठे सुप्रीम कोर्ट की बहस सुनना, न्याय होते देखना मुमकिन..

-सुनील कुमार।। सुप्रीम कोर्ट में आज एक नया इतिहास गढ़ा जा रहा है जब संवैधानिक मामलों की सुनवाई का जीवंत प्रसारण होगा। इनके ऑडियो-वीडियो की लाईव स्ट्रीमिंग इंटरनेट पर की जाएगी, और जिन्हें दिलचस्पी हो वे उन्हें देख-सुन सकेंगे। सुप्रीम कोर्ट के सभी जजों की बैठक में यह फैसला लिया गया। इसकी बुनियाद 2018 में कानून के एक छात्र की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट का एक फैसला था, और उसमें संवैधानिक और राष्ट्रीय महत्व के मामलों की अदालती कार्रवाई की लाईव स्ट्रीमिंग की इजाजत दी गई थी, और कहा गया था कि यह खुलापन सूरज की रौशनी की तरह है...

क्या ऐसे होगी पर्यावरण की रक्षा.?

क्या ऐसे होगी पर्यावरण की रक्षा.?

17 सितंबर को मध्यप्रदेश के कुनो नेशनल पार्क में अफ्रीका से लाए चीतों को छोड़ते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि आज भारत की धरती पर चीता लौट आए हैं और इन चीतों के साथ ही भारत की प्रकृतिप्रेमी चेतना भी पूरी शक्ति से जागृत हो उठी है। उन्होंने कहा था कि जब प्रकृति और पर्यावरण का संरक्षण होता है तो हमारा भविष्य भी सुरक्षित होता है। लेकिन क्या यह प्रकृति प्रेमी चेतना असम तक नहीं पहुंच पाई है या फिर विशिष्ट लोगों के लिए नियमों को ताक पर रख कर भी महज प्रवचनों से प्रकृति और पर्यावरण की...

कांग्रेस के इस घर को आग लग गई घर के चिराग से…

कांग्रेस के इस घर को आग लग गई घर के चिराग से…

-सुनील कुमार।। ठीक उस वक्त जब सोशल मीडिया पर राहुल गांधी की पदयात्रा की दिल को छू लेने वाली तस्वीरें हर कुछ घंटों में सामने आ रही थीं, और भारत जोड़ो यात्रा से राहुल विरोधियों में एक बेचैनी फैल रही थी, कांग्रेस पार्टी के भीतर से भी पार्टी की इस मुहिम को आग लग गई। अभी कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन भरा भी नहीं गया है, और राजस्थान में नए मुख्यमंत्री बनाने के लिए सोनिया गांधी की ओर से भेजे गए पर्यवेक्षक पहुंचे, और वहां कांग्रेस विधायकों में बगावत हो गई। शायद कांग्रेस के इतिहास में ऐसा पहली बार...

अंकिता से अंकिता तक इंसाफ का इंतजार

अंकिता से अंकिता तक इंसाफ का इंतजार

यह बड़े अफसोस की बात है कि देश में आधी आबादी के अधिकारों और सुरक्षा की लचर स्थिति पर हर दूसरे दिन लिखने की जरूरत पड़ती है। देश में शारदीय नवरात्र का आगाज़ हो चुका है और अब 9 दिनों तक देवी के अलग-अलग रूपों की पूजा की जाएगी। मंदिरों में देवी दर्शन के लिए भीड़ उमड़ेगी, श्रद्धालु कठिन व्रत रखेंगे और फिर कन्या पूजा की जाएगी। यह सिलसिला हमेशा से चला आ रहा है। हालांकि इस देवीपूजक देश में महिलाओं को इज्जत और बराबरी के साथ व्यवहार की तमीज़ बड़े वर्ग में अब तक नहीं आई है। कन्या भ्रूण...

चाइल्ड पोर्नोग्राफी पर कार्रवाई..

चाइल्ड पोर्नोग्राफी पर कार्रवाई..

-सुनील कुमार।। दुनिया भर की पुलिस और साइबर जांच एजेंसियों से मिली जानकारी के आधार पर कल हिन्दुस्तान में सीबीआई ने 21 राज्यों में करीब पांच दर्जन जगह तलाशी ली, और कई लोगों को बच्चों से जुड़ी हुई सेक्स सामग्री रखने के जुर्म में गिरफ्तार किया। कुछ अंतरराष्ट्रीय एजेंसियां लगातार चाइल्ड-सेक्स सामग्री पर नजर रखती हैं, और जो लोग इन्हें इंटरनेट पर किसी जगह रखते हैं, एक-दूसरे को भेजते हैं, डाउनलोड करते हैं, या अपलोड करते हैं, उन पर लगातार नजर रखी जाती है, और उसी के तहत हर कुछ महीनों में भारत में दर्जनों लोग गिरफ्तार भी होते हैं।...

सत्ता के घरेलू मुजरिमों पर वक्त रहते काबू पाने की जरूरत..

-सुनील कुमार।। उत्तराखंड में भाजपा सरकार एक नई फजीहत में फंसी हुई है, राज्य के एक पूर्व भाजपा मंत्री का बेटा अपने दो साथियों के साथ अपनी एक कर्मचारी युवती की हत्या में गिरफ्तार हुआ है। और इसे लेकर वहां खड़े हुए भारी जनाक्रोश को देखते हुए सरकार ने इस मंत्री-पुत्र के एक पर्यटक-रिसॉर्ट को बुलडोजर से तोड़ा-फोड़ा है। राज्य के भाजपा नेता और पूर्व मंत्री विनोद आर्य के नौजवान बेटे ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर रिसॉर्ट की एक कर्मचारी को पहाड़ी से धक्का देकर गंगा में गिराकर मार डाला। ऐसी खबरें हैं कि मंत्री-पुत्र पुलकित आर्य अंकिता...

ईरान में कुर्द वीरांगनाएं..

ईरान में कुर्द वीरांगनाएं..

-राज ढल्ल।। भारत-समेत दुनिया भर में नारी सशक्तिकरण और महिलाओं की बराबरी एक बड़ा मुद्दा है। दुनिया के बहुत से देशों में आज भी महिलाओं को कुछ खतरनाक सेवाओं में पुरुषवादी मानसिकता की वजह से नहीं रखा जाता है। दूसरी तरफ कुर्द महिलाओ के कमांडो के दस्तों ने इन्ही ISIS के आतंकियों के मुख्य गढ़ में उनके दांत खट्टे किए..आज इन खूबसूरत योद्धाओं का नाम दुनिया की सबसे खतरनाक योद्धाओं में शामिल है। आखिर ये है कौन कुर्द.?? ईरान में कुर्द अपनी अलग पहचान के लिए लड़ते रहे हैं। 1979 की क्रांति के दौरान उन्होंने राजशाही के खिलाफ संघर्ष किया,...

महसा अमीनी कुर्द मूल की लड़की थी..

महसा अमीनी कुर्द मूल की लड़की थी..

-राज ढल्ल।। कुर्द एक मुस्लिम समुदाय है। इसकी अपनी अलग सांस्कृतिक और ऐतिहासिक पहचान है। कुर्द मूल के लोग आम मुस्लिमों के मुकाबले ज्यादा खुले विचारों के हैं। कुर्द महिलाएं भी सरकारी दमन के खिलाफ हथियार उठाती रही हैं। कुर्दिस्तान देश के तीन प्रांतों का हिस्सा है- कुर्दिस्तान, केरमनशाह और पश्चिमी अजरबैजान प्रांत।इसकी सीमाएं तुर्की और इराक के कुछ हिस्से से लगी हैं। ईरान में दूसरे विश्व युद्ध के बाद 1946 में कुर्द रिपब्लिक ऑफ महाबाद भी बनाया गया था। ये सिर्फ एक साल तक अस्तित्व में रहा और कुर्द आबादी अपने लिए अलग राष्ट्र नहीं बना पाई। कुर्दो को...

ईरान में हिजाब की होली, बाकी दुनिया को भी इस हौसले का साथ देना चाहिए

ईरान में हिजाब की होली, बाकी दुनिया को भी इस हौसले का साथ देना चाहिए

-सुनील कुमार।। ईरान में हिजाब के खिलाफ महिलाओं का आंदोलन एक अभूतपूर्व आक्रामकता पर पहुंच गया है। देश के लोगों पर बड़ी कड़ाई से काबू और कब्जा रखने वाली ईरानी सरकारी के लिए यह फिक्र और परेशानी की नौबत है, लेकिन दूसरी तरफ ईरानी महिलाओं के लिए यह अस्तित्व की लड़ाई भी है। एक युवती को ईरान की नैतिकता-पुलिस ने हिजाब न लगाने, या ठीक से न लगाने के लिए गिरफ्तार किया, बाद में उसे अस्पताल में भर्ती करना पड़ा, और उसकी मौत हो गई। इसे पुलिस ज्यादती करार देते हुए ईरानी महिलाएं वहां के कई शहरों में सरकार की...