Home गौरतलब

Category: गौरतलब

Post
कानून के टूटे फूटे हाथ..

कानून के टूटे फूटे हाथ..

पैगम्बर मोहम्मद के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी और अल्पसंख्यकों के लिए जहर बुझी जुबान का इस्तेमाल करने वाली नूपुर शर्मा अपनी जान की रक्षा का हवाला देते हुए अब तक फरार हैं। अदालत ने उनके खिलाफ सख्त टिप्पणी की, तो हिंदुत्व के रक्षकों को इतनी ठेस पहुंची कि सुप्रीम कोर्ट की मर्यादा का ख्याल भी नहीं...

Post
जिनकी जिंदगी न्यायव्यवस्था की लापरवाही और बेइंसाफी से तबाह, उनका इंसाफ क्या?

जिनकी जिंदगी न्यायव्यवस्था की लापरवाही और बेइंसाफी से तबाह, उनका इंसाफ क्या?

-सुनील कुमार॥हिन्दुस्तान के जिस उत्तरप्रदेश में राम बसते हैं, जहां की सरकार रामराज का दावा करती है, उस प्रदेश की एक खबर पिछली कई सरकारों के हाल को बताने वाली आई है। 1996 में उत्तरप्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगा था, उसके बाद मायावती लौटकर फिर मुख्यमंत्री बनी थीं, उनके बाद कल्याण सिंह, रामप्रकाश गुप्ता, राजनाथ...

Post
अगर मदरसे गला काटना पढ़ा रहे हैं, तो उसकी भी जांच हो और रोक लगे…

अगर मदरसे गला काटना पढ़ा रहे हैं, तो उसकी भी जांच हो और रोक लगे…

-सुनील कुमार॥ राजस्थान में एक हिन्दू दर्जी की एक सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर जिस तरह दो मुस्लिमों ने गला काटकर हत्या की है, और उसे मोहम्मद पैगंबर का कथित अपमान करने वाली नुपूर शर्मा के समर्थन के खिलाफ किया गया बताया है, उससे चारों तरफ खलबली मची हुई है। सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर...

Post
भूख से लडऩे वालों की संपन्न सरहदों से लड़ाई खत्म करने की जरूरत..

भूख से लडऩे वालों की संपन्न सरहदों से लड़ाई खत्म करने की जरूरत..

-सुनील कुमार॥ अमरीका के कई सरहदी राज्यों में वैसे तो पड़ोस के देशों से लोगों की गैरकानूनी घुसपैठ चलती ही रहती है, लेकिन अभी कुछ घंटे पहले वहां के टैक्सास में एक बड़ी लॉरी लावारिस पड़ी मिली जिसके भीतर 46 लाशें पड़ी हुई थीं। जाहिर तौर पर ये गैरकानूनी तरीके से अमरीका में आए हुए...

Post
अमेरिका का स्याह पक्ष

अमेरिका का स्याह पक्ष

अमेरिका दुनिया में केवल एक महाशक्ति का नाम ही नहीं है, बल्कि दुनिया के करोड़ों लोगों के लिए स्वप्नजगत की तरह है, जहां हर चीज खूबसूरत, नायाब और अनूठी है। भारत समेत दुनिया के लाखों-करोड़ों नौजवान अमेरिकी रहन-सहन को अपनाने की कोशिश करते हैं, अमेरिकी समाज की तरह बेफिक्र, बेलौस जीवन जीने की आकांक्षा उनकी...

Post
इनको मालूम है ईश्वर की हकीकत लेकिन, दिल…

इनको मालूम है ईश्वर की हकीकत लेकिन, दिल…

-सुनील कुमार॥ जिस अफगानिस्तान में तालिबान के आने के बाद अमरीकी और पश्चिमी मदद बंद हो जाने से लोग भुखमरी के करीब पहुंच रहे हैं, वहीं पर बड़ा बुरा भूकंप आया, और हजार के करीब लोग अपने कच्चे मकानों के मलबे में ही दबकर मर गए। तालिबान-सरकार के पास न अस्पताल हैं, न इलाज है,...

Post
परिवार का आकार और खर्च दोनों छोटे बनाए रखें..

परिवार का आकार और खर्च दोनों छोटे बनाए रखें..

-सुनील कुमार॥ मुम्बई की एक रिपोर्ट है कि 2021 में वहां नए जन्म का रजिस्ट्रेशन कोरोना के पहले के बरस 2019 के मुकाबले 24 फीसदी गिर गया है। 2019 में 1 लाख 48 हजार से अधिक जन्म रजिस्ट्रेशन हुआ था, जो 2020 में गिरकर 1 लाख 20 हजार हो गया, अब 2021 में वह कुल...

Post
युवाओं से चर्चा करें प्रधानमंत्री..

युवाओं से चर्चा करें प्रधानमंत्री..

-देशबंधु॥ अग्निपथ योजना के खिलाफ पिछले पांच दिनों से विरोध-प्रदर्शन का दौर जारी है। युवाओं की नाराजगी थमने की जगह हिंसक विरोध के रूप में सामने आ रही है। बिहार, उत्तरप्रदेश जैसे राज्यों में प्रदर्शन से भारी नुकसान हो चुका है और देश के बाकी राज्यों में भी गुस्से की आग फैलती जा रही है।...

Post
सेना भर्ती में बुनियादी फेरबदल किस रफ्तार से, किस कीमत पर.?

सेना भर्ती में बुनियादी फेरबदल किस रफ्तार से, किस कीमत पर.?

-सुनील कुमार॥ एक बार फिर देश की मोदी सरकार की एक बड़ी महत्वाकांक्षी योजना से बड़ा बवाल उठ खड़ा हुआ है। अग्निपथ योजना के तहत देश के नौजवान फौज में भर्ती होकर अग्निवीर बनने के पहले ही देश के आधा दर्जन राज्यों में प्रदर्शन करते हुए ट्रेन और बस में आग लगाने की वीरता दिखा...

Post
‘अग्निपथ’ ने फोड़ दी बेरोजगारी की हंडिया..

‘अग्निपथ’ ने फोड़ दी बेरोजगारी की हंडिया..

बेरोजगारी की स्थिति बिगड़ते ही सेना की लड़ाकू इकाइयों में पहुंचा ठेकाकरण सेना में चार साल के लिए ठेके की नौकरियों की घोषणा के लिए सरकार पर अपना गुस्सा जाहिर करने के लिए पढ़े-लिखे युवा सड़कों पर उतर आए, इनमें से केवल चौथाई को सेना में शामिल किया जाएगा। आसमान छूती बेरोजगारी (युवा बेरोजगारी लगभग...

Post
मनोहर पर्रिकर ने कहा था सेना RSS से लेती है प्रेरणा..

मनोहर पर्रिकर ने कहा था सेना RSS से लेती है प्रेरणा..

-मणिमाला॥ नौजवां साथियों, क्यों ट्रेनें फूंक रहे हो। बसें तोड़ रहे हो। पत्थर फेंक रहे हो। यह सच है कि चाहे जितनी ट्रेनें फूंको, पत्थर फेंकों, दो-चार सर भी फोड़ दो तुम्हारे घर नहीं ढहाए जायेंगे। तुम ‘वो’ नहीं हो न! बल्कि तुममें से कइयों ने ताली भी बजाई थी, नाचते-गाते खुशियां मनाई थी जब...

Post
सैन्य नीति में अग्निपथ प्रयोग से नाराज युवा..

सैन्य नीति में अग्निपथ प्रयोग से नाराज युवा..

भारत जैसे विशाल जनसंख्या वाले देश में बेरोजगारी एक बड़ी समस्या रही है, और लगभग सभी सरकारों को इस मुद्दे पर युवाओं के आक्रोश का सामना करना पड़ा है। लेकिन मौजूदा केंद्र सरकार ने बेरोजगारी के मुद्दे पर अनूठी राह ही पकड़ी। आठ साल पहले भाजपा ने वादा किया था कि देश में हर साल...