सियासी बुलडोजर के निहितार्थ !

Desk

-ध्रुव गुप्त।। अभिनेत्री कंगना से वैचारिक मतभेद और उसके कई बयानों से असहमति के बावज़ूद मुझे लगता है कि महाराष्ट्र की शिवसेना सरकार ने उसके साथ बदले की जैसी क्रूर कार्रवाई की है, वह बेहद अलोकतांत्रिक, बर्बर और शर्मनाक है। कंगना ने मुंबई या शिवसेना के बारे में कुछ गलत […]

कांग्रेस, बसपा, सपा व आप लगे योगी सरकार की चूलें हिलाने में

Desk

यूपी के सियासी संग्राम में शह और मात का खेल शुरू -तौसीफ़ क़ुरैशी।। सियासी खेल भी अजब ग़ज़ब होते है जनता इनके सियासी खेल का मोहरा भर होती है, इसमें जनता यह नहीं समझ पाती कि हमारी बात कर कौन रहा है ? या हमारी भलाई के लिए कौन काम […]

चरित्रहंता मीडिया की भीड़ में अकेली !

Desk

-ध्रूव गुप्त।। रिया चक्रवर्ती के ख़िलाफ़ सुशांत मामले में अबतक कुछ भी प्रमाणित नहीं हुआ है सिवा सुशांत या अपने लिए कुछ ग्राम या कुछ पुड़िया ड्रग मंगवाने के। उसके विरुद्ध ड्रग का यह मामला भी न्यायालय में नहीं ठहरेगा क्योंकि उसके पास से कोई ड्रग बरामद नहीं हुआ है। […]

न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा के चर्चे हजार..

-संजय कुमार सिंह।।सुप्रीम कोर्ट के न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा बुधवार को रिटायर हुए। अपने पीछे वे विवादों का लंबा सिलसिला छोड़ गए हैं। उन्हें कई चीजें पहली बार करने का श्रेय है। हालांकि, सब गलत कारणों से। न्यायमूर्ति मिश्रा कम से कम तीन मुख्य न्यायाधीशों के खास लगे। विशेषतौर पर राजनीतिक […]

नेताओं-अफसरों की बदसलूकी रिकॉर्ड करें मातहत अफसर-कर्मी..

Desk

-सुनील कुमार।।छत्तीसगढ़ से जाकर आईएएस होते हुए उत्तरप्रदेश के महत्वपूर्ण रायबरेली जिले के कलेक्टर के बारे में खबर आई है कि उन्होंने भरी बैठक में जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी को गधा कहा, और जमीन में गड़वा देने को कहा। जब इसकी शिकायत चिकित्सा अधिकारियों के संघ को की गई […]

कोरोना पॉजिटिव लोगों के नाम उजागर किए जाएं..

Desk

-सुनील कुमार।।हिन्दुस्तान के कुछ दूसरे हिस्सों की तरह छत्तीसगढ़ में कोरोना पॉजिटिव रफ्तार से बढ़ रहे हैं। शुरुआती महीनों में छत्तीसगढ़ में रफ्तार कुछ कम रही लेकिन अब इस तेजी से बढ़ रही है कि लोगों को अपने घर पहुंचते हुए कई रास्ते बदलकर जाना पड़ता है क्योंकि जहां ज्यादा […]

प्रश्नकाल को मज़ाक़ न बनाएं..

Desk

कोविड काल में मोदी सरकार ने कई ऐसे फैसले लिए, जो अंतत: देशहित और जनहित के साबित नहीं हुए। यानी सरकार की मनमानी का खामियाजा देश की आम जनता को भुगतना पड़ा। स्वास्थ्य आपदा के मद्देनजर या गिरती अर्थव्यवस्था को संभालने के लिए त्वरित फैसले लेने की जरूरत थी, ऐसा […]

मंत्रियों की संभावित सूची पर मंथन शुरू

Desk

डॉ. जितेंद्र सिंह, हेमाराम और गजेंद्र बन सकते है मंत्री -महेश झालानी।। यद्यपि फिलहाल मंत्रिमंडल का विस्तार कुछ समय के लिए टल गया है । लेकिन दिल्ली में उच्चस्तर पर 13 व्यक्तियों के नाम पर चर्चा की जा रही है । पायलट गुट की ओर से विश्वेन्द्र सिंह, हेमाराम चौधरी, […]

डॉ. कफील की रिहाई से उपजे सवाल ​

Desk

29 जनवरी से मथुरा की जेल में बंद डॉ.कफील खान आखिरकार 1 सितंबर को जेल की सलाखों से बाहर आ गए। सात महीने की उनकी यह कैद राजनीति, मानवाधिकार, लोकतंत्र और इंसाफ से जुड़े कई सवाल खड़े करती है। गौरतलब है कि पिछले साल दिसंबर में नागरिकता संशोधन कानून यानी […]

कुछ कर नहीं सकते तो उतर क्यों नहीं जाते..

Desk

शायर इरतजा निशात का चर्चित शेर है- ”कुर्सी है तुम्हारा यह जनाजा तो नहीं हैकुछ कर नहीं सकते तो उतर क्यों नहीं जाते?”  आज ये पंक्तियां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पर बिल्कुल सटीक बैठ रही हैं। उनकी नीतियों, फैसलों और लापरवाहियों की वजह से देश 40 साल […]

इच्छाशक्ति दिखाने की बारी भारत सरकार की..

Desk

चीन के ढेर सारे ऐप्स पर प्रतिबंध लगाना, चीनी सामानों का बहिष्कार करना और लद्दाख से लेकर लालकिले तक बिना नाम लिए चीन को ललकारना, लगता है इनमें से कोई भी हथियार चीन को डरा नहीं पा रहा है। मई से गलवान घाटी में चीन भारत को चुनौती देता आ […]

मोदी जी जाओ, सुशांत आओ..

Desk

-विष्णु नागर।। यह देश आजकल सुशांत सिंह राजपूतमय है। आज की तारीख में सुशांंत की आत्महत्या इतना पापुलर सब्जेक्ट है कि उसने मोदीजी की ‘पापुलरिटी’ को पीछे ढकेल दिया है।पहले टीवी चैनल और अखबार मोदीजी से शुरू होकर मोदीजी के एजेंडे पर खत्म होते थे।फिलहाल देश के हालात 180 डिग्री […]

Fb-Button
Facebook