एचआर तोताराम के चलते टाईम्स समूह का प्रस्ताव ठुकरा दिया..

Desk

-ओम थानवी।। 1984 की बात है। राजेंद्र माथुर नवभारत टाइम्स का संस्करण शुरू करने के इरादे से जयपुर आए। पहली, महज़ परिचय वाली, मुलाक़ात में कहा: “जानता हूँ आप इतवारी का काम देखते हैं। “फिर अगले ही वाक्य में, “और अच्छा देखते हैं”। कुछ रोज़ बाद में उन्होंने मुझे नवभारत […]

एक खास न्यूज चैनल के साथ कटघरे में सरकार ने धकेल दिया कई और को!

Desk

-सुनील कुमार।।सुप्रीम कोर्ट में अभी एक महत्वपूर्ण मामला सुना गया, और अदालत ने उस पर कड़ा रूख दिखाते हुए एक हुक्म भी दिया। देश के सबसे साम्प्रदायिक-भडक़ाऊ चैनल, सुदर्शन टीवी को मुस्लिमों के खिलाफ नफरत फैलाने के लिए जाना जाता है। इसके तेवर किसी समाचार माध्यम से अलग, तलवार लेकर […]

सोशल मीडिया के स्याह पहलू..

Desk

-रविंद्र सिंह।। ‘एक लड़की है, जो फ़ेसबुक पर अपना फ़ोटो डालती है और फिर उस पर प्रतिक्रयाओं का इंतज़ार करती है. अब उसकी ख़ुशी-नाख़ुशी उस फ़ोटो पर मिले रिएक्शंस पर निर्भर हो जाती है और मनोवाँछित रिएक्शंस ना पाकर वो परेशान हो जाती है. अपने ‘लुक्स’ को लेकर हीन-भावना से […]

पत्रकार महोदय, मरणोपरांत दस लाख पाने के लिए धक्का-मुक्की तो नहीं करोगे ?

Desk

-नवेद शिकोह।। योगी सरकार द्वारा यूपी के मान्यता प्राप्त पत्रकारों को पांच लाख का स्वास्थ्य बीमा और मरणोपरांत परिजनों को दस लाख की आर्थिक सहायता देने की घोषणा के बाद पत्रकारों में किस्म-किस्म की बातें हो रही हैं।सरकार को शुक्रिया अदा किया जा रहा है तो ये मांग भी हो […]

क्या फ़र्ज़ी खबरों को अदालत में सबूत बनाएगी दिल्ली पुलिस.?

Desk

-पंकज चतुर्वेदी।। 17 हज़ार पेज की चार्ज शीट , 11 लाख पेज के सबूत के दावों के बावजूद दिल्ली पुलिस , जिसने ईडी सहित केंद्र की कई एजेंसियों को काम पर लगा रखा है, एक पुख्ता सबूत नहीं गढ़ पायी – जिससे साबित हो कि दिल्ली में दंगा और सी […]

कोविड पश्चात दुनिया और बहुजन कार्यकर्ताओं की ज़िम्मेदारी

admin

-प्रमोद रंजन।।कहा जा रहा है कि अगर नए कोरोना वायरस के संक्रमण को कड़े लॉकडाउन के सहारे रोका नहीं गया होता तो मानव-आबादी का एक बड़ा हिस्सा इसकी भेंट चढ़ जाता। लेकिन क्या सच उतना एकांगी है, जितना बताया जा रहा है? लॉकडाउन के कारण दुनिया भर में लाखों लोग […]

मलेरकोटला मिसाल है आपसी मुहब्बत की..

Desk

-श्याम मीरा सिंह।। जब हजारों मुस्लिम महिलाएं शाहीनबाग में अपनी पहचान और सम्मान की लड़ाई इस मुल्क के निजाम से लड़ रही थीं, तब उस लड़ाई में अपना कंधा देने के लिए पंजाब से आए सिख भाइयों ने खुली सड़क पर लंगर लगा दिए थे। आज सिख किसान सड़क पर […]

पासवर्ड से अधिक भरोसा करें सरकारों की बदनीयत पर…

Desk

-सुनील कुमार।। देश में किसानों और मजदूरों के हितों के खिलाफ कहे जा रहे कानून थोक में बन रहे हैं, और संसद में उन्हें विपक्ष की गैरमौजूदगी में ध्वनिमत से इस तरह पारित किया जा रहा है कि मानो कपिल शर्मा के कॉमेडी शो में नामौजूद दर्शकों की रिकॉर्ड की […]

बिजूका सरकार और पूंजीपति टिड्डी दल

Desk

संसद का इस बार का मानसून सत्र कई मायनों में ऐतिहासिक रहा। सरकार का निरंकुश रवैया खुलकर देश ने देख लिया। हालांकि गोदी मीडिया ने बहुत कोशिश की कि इस देश की जनता केवल बॉलीवुड में ड्रग्स की समस्या को देखे, और थोपी हुई खबरों की मदहोशी में रहे, लेकिन […]

CAG ने उठाये रॉफेल सौदे पर सवाल..

admin

-पंकज चतुर्वेदी।। राफेल विमान की खरीद पर उठ रहे विवादों को भले ही सुप्रीम कोर्ट, चुनावी परिणामों और अन्य कई गोपनीय कारकों ने ताला लगा दिया हो, लेकिन भारत के भारत के नियन्त्रक एवं महालेखापरीक्षक (सी ए जी ) द्वारा तैयार और संसद के मानसून स्तर के अंतिम दिन प्रस्तुत […]

विदेश नीति पर विचार की जरूरत..

Desk

‘लोकतंत्र के लिए सबसे जरूरी स्वतंत्र चुनाव नहीं है। इसमें केवल यह पता चलता है कि किसे सबसे अधिक वोट मिला है। इससे ज्यादा महत्वपूर्ण उन लोगों का अधिकार है जिन्होंने विजेता के लिए वोट नहीं दिया। भारत 7 दशकों से अधिक समय से दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र रहा […]

मजदूर-विरोधी विधेयकों के खिलाफ देश भर में प्रदर्शन..

admin

ऐक्टू व अन्य केन्द्रीय ट्रेड यूनियन संगठनों ने मजदूर-विरोधी विधेयकों के खिलाफ किया जंतर-मंतर पर प्रदर्शन.. संसद में मजदूर विरोधी श्रम कोड पेश करने के खिलाफ देश भर में कई जगहों पर हुए प्रदर्शन.. नई दिल्ली, 23 सितंबर, 2020 : दिल्ली के जंतर-मंतर पर ऐक्टू(AICCTU) समेत एटक (AITUC), सीटू (CITU), […]

Fb-Button
Facebook