सरकार के अड़ियल रवैये के चलते बेनतीजा रही बातचीत..

Desk

सयुंक्त किसान मोर्चा और सरकार के बीच आज की बैठक भी बेनतीजा रही क्योंकि किसान तीन कृषि कानूनों को रद्द करवाने की मांग करते रहे और सरकार के प्रतिनिधि इन कानूनों में संशोधन का प्रस्ताव देते रहे। अगली बैठक 19 जनवरी को तय की गई है। किसान संगठनों द्वारा 13 […]

एनकाउंटर से अपराध खत्म नहीं होते..

Desk

कुछ बरस पहले अपराध की कहानियों पर आधारित पत्रिकाएं खूब बिकती थीं, फिर समाचार चैनलों पर अपराध आधारित कार्यक्रम टीआरपी बटोरने लगे और इस वक्त अपराध की दुनिया को फिल्माती वेबसीरीज काफी हिट हो रही हैं। पर्दे पर यह सब देखना सामान्य लग सकता है, लेकिन यही सब रोजमर्रा के […]

देशभर में कृषि कानूनों की प्रतियां जलाई गईं..

Desk

कानूनों की प्रतियां जलाई गईं.. कानून नकारते हुए उन्हें रद्द करने का देश भर के किसानों ने पुनः जोर दिया.. किसान आन्दोलन के सभी पहलुओं को तेज करने की तैयारी में.. दिल्ली के पास के सभी जिलों से दिल्ली में गणतंत्र दिवस किसान ट्रैक्टर परेड की तैयारी करने का आह्नान […]

सुप्रीम कोर्ट से उम्मीद..

Desk

नए कृषि कानूनों पर किसानों के आंदोलन को डेढ़ महीने से अधिक हो चुके हैं। दिल्ली की सीमाओं पर ठंड, बारिश, शीतलहर सबका सामना करते हुए बुजुर्ग, बच्चे, महिलाएं सभी किसानों के हक में डटे हुए हैं। इस बीच 9 बार किसानों के प्रतिनिधि, केन्द्रीय मंत्रियों के साथ बैठक कर […]

अब बर्ड फ्लू का खतरा..

Desk

कोरोना का खौफ अभी देश में खत्म नहीं हुआ है कि एक और बीमारी का डर बढ़ने लगा है। देश के कई राज्यों में बर्ड फ्लू फैल रहा है। बड़ी संख्या में मुर्गियों, बत्तखों, कौवों के मरने के बाद केंद्र सरकार ने राज्यों को सचेत रहने के लिए कहा है। […]

भिखारी ठाकुर: रंगवा में भंगवा परल हो बटोहिया !

Desk

-ध्रुव गुप्त॥ लोकभाषा भोजपुरी की साहित्य-संपदा की जब चर्चा होती है तो सबसे पहले जो नाम सामने आता है, वह है स्व भिखारी ठाकुर का। वे भोजपुरी साहित्य के ऐसे शिखर हैं जिसे न उनके पहले किसी ने छुआ था और न उनके बाद कोई उसके निकट भी पहुंच सका। […]

कभी निजीकरण के खिलाफ और अब..

admin

-डॉ अमिता नीरव॥ जब मैंने अखबार में काम करना शुरू किया था, तब वहाँ बड़ा सुकून था। समय को साधने के अतिरिक्त और किसी तरह का तनाव नहीं था। हो सकता है हो, लेकिन वह भी विभागीय प्रमुख के हिस्से ही हुआ करता होगा। बाकियों का काम बहुत सुकून में […]

नए दौर की गुलामी के आसार..

Desk

मोदी सरकार के नए कृषि कानूनों को रद्द किए जाने की मांग पर कई दिनों से आंदोलनरत किसानों ने 8 दिसंबर को भारत बंद का आह्वान किया था, जिसका व्यापक असर देश में देखने मिला। बंद पूरी तरह सफल और शांतिपूर्ण रहा। कई जगह रास्ते बंद होने और हाईवे पर […]

जहरीली हवा का शिकार देश..

Desk

देश की राजधानी दिल्ली समेत उत्तर भारत के कई शहरों में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है। आमतौर पर ठंड शुरु होने और दीवाली के दौरान चले पटाखों के कारण हवा की गुणवत्ता खराब होती थी। लेकिन इस बार लोगों को पहले ही जहरीली और दमघोंटू हवा में सांस […]

जातिवाद का जहर..

admin

जातिवाद का जहर भारत की रग-रग में किस कदर घुला हुआ है, इसकी ताजा मिसाल एक बार फिर उत्तरप्रदेश से ही सामने आई है, जहां तीन दलित बहनों पर तेजाब का हमला हुआ है। बड़ी बहन 17 बरस की है और बुरी तरह झुलस गई है, जबकि छोटी बहनें 12 […]

सरकारी घोषणाओं से गरीब गायब..

Desk

भारत में लॉकडाउन का दौर खत्म हो चुका है और लगभग सभी चीजें अनलॉक हो गई हैं। सिनेमाघर, स्कूल-कालेज आदि बंद हैं, वहां भी कुछ समय में चहल-पहल देखने मिल जाएगी। कोरोना तो अपनी रफ्तार से बढ़ रहा है, हम अब भी अमेरिका से थोड़ा पीछे हैं, लेकिन दुनिया में […]

कोरोना और लॉकडाऊन से सबक जरूरी वरना विनाश..

Desk

-सुनील कुमार||लॉकडाऊन ने पूरी दुनिया में लोगों की जिंदगी तहस-नहस कर दी है। जो बहुत संपन्न देश हैं वहां तो लोग फिर भी घर बैठे जी पा रहे हैं, लेकिन हिन्दुस्तान जैसे मिलीजुली अर्थव्यवस्था वाले देश भी बदहाली में पहुंच चुके हैं। दुनिया के अर्थशास्त्रियों का यह भी मानना है […]

Fb-Button
Facebook
escort eskişehir - lidyabet - macbook servis - kabak koyu