11 सितम्बर हमले की बरसी पर उपजे कुछ सवाल

-सुनील कुमार॥ अफगानिस्तान में तालिबान सरकार बन गई है और उसके चेहरों को देखकर अमेरिका सहित बहुत से देश तनाव में होंगे क्योंकि कुछ चेहरे

Read More

ओलंपिक से पहले घरेलू खेलों पर गौर करो सरकार..

-सुनील कुमार॥ हिंदुस्तान के केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने अभी देश के खेल संघों से यह कहा है कि वे 2024 और 2028 के

Read More

थाने के भीतर सांप्रदायिक हमले से अधिक भयावह और क्या?

-सुनील कुमार॥ छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव को कल देर रात जिस तरह तबादला करके पुलिस मुख्यालय भेजा गया है,

Read More

किसान महापंचायत: देश की आत्मा के जागने की तस्वीर 

पिछले करीब 7 वर्षों से नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी की केन्द्र सरकार जनविरोधी नीतियों और योजनाओं की पर्याय बन चुकी है।

Read More

पसंदीदा जजों का बहुमत तो सैयां भये कोतवाल

-सुनील कुमार॥ हिंदुस्तान के सुप्रीम कोर्ट और केंद्र सरकार के बीच इन दिनों कई किस्म की लिस्ट घूम रही हैं। सुप्रीम कोर्ट में कितने जज

Read More

कुछ तो मजबूरियां रही होंगी, यूं ही कोई वफादार नहीं होता

-सुनील कुमार॥ जिन लोगों की अफगानिस्तान के ताजा हाल में दिलचस्पी है, और जो अंतरराष्ट्रीय मामलों में विदेश नीति में दिलचस्पी रखते हैं, वे लोग

Read More

मौजूदा कानूनों का इस्तेमाल करो, नए कानून मत बनाओ

-सुनील कुमार॥ सुप्रीम कोर्ट ने सोशल मीडिया, वेब पोर्टल और निजी टीवी चैनलों के एक वर्ग में झूठी ख़बरों को चलाने, और उन्हें सांप्रदायिक लहज़े

Read More

जलियांवाला झांकी है, पार्लियामेंट अभी बाकी है

-सर्वमित्रा सुरजन॥शहादत के तमाशे की ऐसी मिसाल दुनिया में शायद ही कहीं मिले। जर्मनी, रूस, जापान जैसे देशों के इतिहास भी अनेक विभीषिकाओं से भरे

Read More

काउंटर टेररिज्म: JNU में नया कोर्स, एक खतरा

उच्च शिक्षा के लिए भारत के सबसे बेहतरीन विश्वविद्यालयों में से यकीनन एक जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में एक नया विवाद पैदा किया जा रहा है।

Read More

चाइल्ड पोर्न: एप्पल झांकेगा आपके iPhone में..

-सुनील कुमार॥ हिंदुस्तान के जिन लोगों के सिर से अब पेगासस की दहशत हट चुकी है और लोग मान चुके हैं कि अब उन्हें सरकार

Read More

अमेरिकी फौजों की वापसी से उठते सवाल

पूरी तरह से तालिबान के नियंत्रण में आ चुके अफगानिस्तान से अमेरिकी फौजों की अंतिम विदाई हो गई है। सोमवार को इस देश को रक्तरंजित

Read More

आज़ादी और समानता के अधिकार पर जबर्दस्त प्रहार

एक ओर तो हम सम्प्रभु राष्ट्र के नागरिक होने के नाते हर तरह के अधिकार सुनिश्चित करने वाली देश की आजादी की अगले साल 75वीं

Read More

Visit Us On TwitterVisit Us On FacebookVisit Us On YoutubeVisit Us On LinkedinCheck Our FeedVisit Us On Instagram