Home admin

Author: admin

Post
भूख से लडऩे वालों की संपन्न सरहदों से लड़ाई खत्म करने की जरूरत..

भूख से लडऩे वालों की संपन्न सरहदों से लड़ाई खत्म करने की जरूरत..

-सुनील कुमार॥ अमरीका के कई सरहदी राज्यों में वैसे तो पड़ोस के देशों से लोगों की गैरकानूनी घुसपैठ चलती ही रहती है, लेकिन अभी कुछ घंटे पहले वहां के टैक्सास में एक बड़ी लॉरी लावारिस पड़ी मिली जिसके भीतर 46 लाशें पड़ी हुई थीं। जाहिर तौर पर ये गैरकानूनी तरीके से अमरीका में आए हुए...

Post
हैवानों से भरा समाज

हैवानों से भरा समाज

उत्तराखंड में हरिद्वार जिले के रुड़की से एक दिल दहलाने वाली खबर सामने आई है। यहां रात को चलती कार में छह साल की मासूम बच्ची और उसकी मां से सामूहिक बलात्कार का जघन्य अपराध किया गया है। पुलिस के अनुसार, रुड़की के पास मुस्लिम तीर्थस्थल पिरान कलियर से एक महिला अपनी छह साल की...

Post
हिन्दू बुलडोजरों का फुटपाथी इंसाफ..

हिन्दू बुलडोजरों का फुटपाथी इंसाफ..

-सुनील कुमार॥ उत्तरप्रदेश के चुनाव में बुलडोजर भी एक मुद्दा था, और सत्तारूढ़ मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की तरफ से उनकी भाजपा ने बार-बार यह तर्क दिया कि अपराधियों के अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलाए जाएंगे। उत्तरप्रदेश में भाजपा को जितनी बड़ी जीत मिली है, उसके चलते हुए योगी आदित्यनाथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के मुकाबले...

Post
फैसलों में भागीदारी से बचा जा सकता है बहुत बड़ी ऐतिहासिक चूक से..

फैसलों में भागीदारी से बचा जा सकता है बहुत बड़ी ऐतिहासिक चूक से..

-सुनील कुमार॥ आज कांग्रेस पार्टी के भीतर चुनावी शिकस्त को लेकर दिख रही बेचैनी कोई नई बात नहीं है। दो बरस पहले जब पार्टी को लोकसभा चुनावों में उम्मीदों के खिलाफ जाकर बड़ी बुरी हार मिली थी तब भी यह बेचैनी शुरू हुई थी, और तब से अब तक जारी ही थी। लेकिन इसे पार्टी...

Post
बस्तर में बेकसूर आदिवासियों के कत्ल पर सरकार किसी भी पार्टी की रहे, रूख एक सा..

बस्तर में बेकसूर आदिवासियों के कत्ल पर सरकार किसी भी पार्टी की रहे, रूख एक सा..

-सुनील कुमार॥ छत्तीसगढ़ के बस्तर में बेकसूर और निहत्थे आदिवासियों की सुरक्षा बलों के हाथों मौत एक आम बात है। हर बरस कई ऐसे कत्ल होते हैं लेकिन चूंकि कातिल सरकारी वर्दीधारी रहते हैं, और वे लोकतंत्र को बचाने के नाम पर लोगों का कत्ल करते हैं इसलिए उस कत्ल को हत्या न कहकर नक्सल-संदेह...

Post
एक्टिंग में जल्दी काम न मिलने की वजह बता रहे हैं, अभिनेता पंकज कुमार 

एक्टिंग में जल्दी काम न मिलने की वजह बता रहे हैं, अभिनेता पंकज कुमार 

किसी ने सच ही कहा है,कि जब आप अपने डर के आगे अपने सपने को ज्यादा महत्व देंगे तो चमत्कार हो सकता है, सपना देखना आवश्यक है,लेकिन यह केवल तभी हो सकता है, जब आप अपने पूरे दिल से बड़ा  सपना देखें तभी आप सपने को हासिल करने मैं सक्षम होंगे. ऐसे ही सपने लिए...

Post
दो बरस में हिंदुस्तान में दर्ज हुई, दो ऑपरेशन घर वापिसी…

दो बरस में हिंदुस्तान में दर्ज हुई, दो ऑपरेशन घर वापिसी…

-सुनील कुमार॥ यूक्रेन में फंसे हुए हिंदुस्तानी छात्र-छात्राओं को वापस लाने के लिए भारत सरकार ने कई विमान भेजे हैं, और उनमें भारतीय वायुसेना के विमान भी शामिल हैं। इसके अलावा केंद्र सरकार ने 4 मंत्रियों को तैनात किया है जो कि इन्हें वापस लाने के लिए यूक्रेन के अगल-बगल के देशों तक जाकर वहां...

Post
जिंदगी के आखिरी पलों में आता है यादों का सैलाब..

जिंदगी के आखिरी पलों में आता है यादों का सैलाब..

-सुनील कुमार॥ अभी अनायास एक ऐसा वैज्ञानिक संयोग हुआ जिसने यह अंदाज लगाने का मौका दिया है कि इंसान अपने आखिरी कुछ पलों में क्या करते हो सकते हैं? अमरीका की एक यूनिवर्सिटी, लुईसविले, में न्यूरोसर्जन एक ऐसे व्यक्ति की दिमागी हलचलों को रिकॉर्ड कर रहे थे जो कि मिर्गी के दौरों का शिकार था।...

Post
मोदी की भ्रष्टाचार पैरोडी..

मोदी की भ्रष्टाचार पैरोडी..

यूपीए सरकार को हटाकर खुद सत्ता में आने के लिए भाजपा ने भ्रष्टाचार का भय देश में खड़ा किया था। इसकी शुरुआत 2011 में ही हो गई थी, जब अन्ना हजारे के जरिए लोकपाल आंदोलन खड़ा कर कांग्रेस के खिलाफ अविश्वास का माहौल देश में बनाया गया। खुद नरेन्द्र मोदी ने सितंबर 2013 में जयपुर...

Post
कपड़ों से धर्म का पता लगना तो आसान था, लेकिन इंसानियत का पता भी चला…

कपड़ों से धर्म का पता लगना तो आसान था, लेकिन इंसानियत का पता भी चला…

-सुनील कुमार॥ . मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में पिछले हफ्ते एक लडक़ी रेल की पटरी मालगाड़ी के नीचे से होकर पार कर रही थी कि अचानक मालगाड़ी चल पड़ी और वह लडक़ी निकल नहीं पाई और चीखने लगी। उसकी आवाज सुनकर वहीं खड़े एक बढ़ई ने अपनी जान की परवाह किए बिना चलती हुई मालगाड़ी...

Post
भाजपा का चरित्रहीन चेहरा..

भाजपा का चरित्रहीन चेहरा..

सत्ता का मोह किसी शासक को नैतिकता के पैमाने पर कितना गिरा सकता है, इसका कालजयी उदाहरण महाभारत में दिया गया है। कुरु सभा में द्रौपदी के अपमान का प्रसंग संवेदनशील लोगों की रूह आज भी कंपा देता है। लेकिन क्या राजनेताओं में संवेदना खत्म हो चुकी है, नैतिक तौर पर वे खोखले हो चुके...

Post
चौकोने मुकाबले होंगे पंजाब में..

चौकोने मुकाबले होंगे पंजाब में..

-विनायक शर्मा॥ 2017 के पंजाब विधानसभा व 2019 के लोकसभा चुनाव तक अकाली-भाजपा एनडीए गठबंधन में एक साथ थे और 2012 तक तो सरकार बनने पर भाजपा  (पूर्व की जनसंघ) विधायक दल से ही उपमुख्यमंत्री बनाया जाता था। यहां यह उल्लेख करना आवश्यक है कि 2012 में गठबंधन की सरकार बनने पर 56 विधायकों वाली...