किस मुंह से कहते हो कि कश्मीर हमारा है.?

admin

-श्याम मीरा सिंह।। नीचे दो तस्वीरें हैं, पहली तीन बच्चों की जिनके नाम हैंइम्तियाज अहमद, अबरार अहमद और मोहम्मद इबरार। दूसरी तस्वीर में इन तीनों बच्चों की मां हैं। मां के नाम क्या बताना, ऐसी ही माँ हैं जैसी मेरी अपनी है, जैसी आपकी माँ होंगी। 18 जुलाई, 2020 के […]

नहीं रहे स्वामी अग्निवेश..

admin

-पंकज चतुर्वेदी।। सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश का निधन हो गया है। वह 81 वर्ष के थे और पिछले कई दिनों से गंभीर रूप से बीमार चल रहे थे। लिवर सिरोसिस से पीड़ित अग्निवेश के कई प्रमुख अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। वह दिल्ली के वसंत कुंज स्थित […]

अपने को अतिरिक्त सम्मान का हकदार बना अदालतें लोकतंत्र के खिलाफ हैं..

admin

-सुनील कुमार।। भारत के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस शरद अरविंद बोबड़े की एक परदेसी मोटरसाइकिल सवारी पर सुप्रीम कोर्ट के एक प्रमुख वकील और एक प्रमुख सामाजिक कार्यकर्ता प्रशांत भूषण की ट्वीट को सुप्रीम कोर्ट ने अदालत की अवमानना माना है, और अभी दो दिन बाद अदालत उनकी सजा तय करेगी। […]

सैकड़ों बरस के रक्षाबंधन ने किस तरह की रक्षा दी, और यह किस पर बंधन?

admin

-सुनील कुमार।।हिन्दुस्तान में आज राखी का त्यौहार मनाया जा रहा है जो कि एक ऐसा अनोखा त्यौहार है जिसकी जड़ें किसी धर्म में नहीं है, महज सामाजिक रिवाजों में है। दुनिया में शायद ही दूसरे देशों में ऐसा त्यौहार हो जिसमें बहन भाई की कलाई पर राखी या रेशमी डोरी […]

सबसे अधिक भ्रष्टाचार में डूबे देश की सबसे बड़ी सेवाओं के लोग..

admin

-सुनील कुमार||छत्तीसगढ़ सरकार में तैनात भारतीय वन सेवा के कुछ अफसरों की बर्खास्तगी की चर्चा ही चर्चा 10-20 बरस से चल रही है। उनके भ्रष्टाचार जंगल से लेकर शहर की आरामिलों तक हर किसी की जानकारी में हैं, लेकिन वे हैरतअंगेज और रहस्यमय तरीके से अपने तमाम भ्रष्टाचार के साथ […]

मोदी जी के अच्छे कामों पर आलोचकों की नज़र नहीं जाती.?

admin

-विष्णु नागर|| प्रधानमंत्री बीच- बीच में कुछ अच्छे काम भी करते रहते हैं।, जिन पर उनके आलोचकों की दृष्टि नहीं जाती। कोरोना की वजह से ही सही प्रधानमंत्री इस बीच विदेश तो गए ही नहीं।, देश में भी एक जगह गये पश्चिम बंगाल के बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का दौरा करने। असम […]

नयी शिक्षा नीति- कुछ सवाल..

admin

केंद्र सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए नयी शिक्षा नीति तैयार की है। साथ ही मानव संसाधन विकास मंत्रालय का नाम फिर से बदलकर शिक्षा मंत्रालय किया गया है। 1985 से पहले शिक्षा मंत्रालय ही हुआ करता था, लेकिन राजीव गांधी के शासनकाल में इसे […]

अपने सिर पर सवार हुए पूर्वाग्रह अपडेट भी करें..

admin

-सुनील कुमार||हिन्दुस्तान में किसी भी विवाद की चर्चा हो, और उसे धर्म और जाति से अलग रख दिया जाए, ऐसा मुश्किल से ही होता है। लोग इलाज में गड़बड़ी होने से तुरंत ही आरक्षण के फायदे से मेडिकल कॉलेज दाखिला पाने वाले लोगों की जात पर उतर आते हैं। सरकारी […]

कोरोना वारियिर्स को नौकरी से निकालने की तैयारी..

admin

राजधानी दिल्ली स्थित ‘लेडी हार्डिंग अस्पताल व मेडिकल कॉलेज’ में कोरोना संकट के दौरान अपनी जान जोखिम में डालकर काम करनेवाले स्वास्थ्य कर्मचारियों को नौकरी से निकालने की तैयारी.. अस्पताल के ठेका कर्मचारियों पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ ऐक्टू ने उठाई आवाज़ – अस्पताल के गेट पर कर्मचारियों ने […]

लापरवाह लोगों के साथ सरकारी नरमी किसलिए?

admin

-सुनील कुमार||हिन्दुस्तान में कोरोना का जो हाल चल रहा है, वह बहुत फिक्र पैदा करता है। कई प्रदेशों में अस्पतालों में जगह नहीं बची है, तो बड़े-बड़े स्टेडियमों में पलंग लगाकर कोरोना वार्ड बना दिए गए हैं। मौतें बहुत रफ्तार से इस देश में आगे नहीं बढ़ रही हैं, इसलिए […]

ठाकुर का कुआं, ठाकुरों का श्मशान..

admin

कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद के जन्म को 140 साल पूरे हो रहे हैं और यह विडम्बना ही है कि अपनी कहानियों में उन्होंने समाज की जिन विसंगतियों और विद्रूपताओं का चित्रण किया है, वे आज भी कायम हैं। उनकी एक कहानी है- ‘ठाकुर का कुआं’, जिसके मुख्य पात्र हैं जोखू […]

Fb-Button
Facebook