बिजली ने उत्तर भारत की नींद हराम की..

admin

रात करीब ढाई बजे नॉर्दन ग्रिड फेल हो जाने के कारण दिल्ली सहित उत्तर भारत के 9 राज्यों में ब्लैक आउट हो गया. बिजली फेल होने के कारण दिल्ली की लाइफ लाइन मेट्रो के पहिये थम गए, बिजली से चलने वाली 300 से ज्यादा ट्रेनें फंस गईं, पानी की सप्लाई ठप्प हो गई, अस्पतालों में मरीज कराह उठे, रेड लाइटों पर जगह-जगह जाम लग गया और स्ट्रीट लाइटें बंद हो गईं. हर कोई शख्स बिजली गुल होने से परेशान दिखा. लोग रात भर सो नहीं पाए. हालांकि सुबह 7 बजे के बाद धीरे-धीरे बिजली की सप्लाई नॉर्मल होनी शुरू हो गई . मेट्रो के अधिकारियों के मुताबिक 7 बजे के बाद मेट्रो का 25 फीसदी ऑपरेशन शुरू हो गया था, मगर अभी तक मेट्रो पूरी तरह पटरी पर नहीं आई है. इसके अलावा पूरे उत्तर भारत का रेल यातायात ठप्प पड़ा है जिसके चलते रेलवे स्टेशनों पर मुसाफिर परेशानी की हालत में रेल यातायात सामान्य होने का इंतज़ार कर रहे हैं.
उधर, दिल्ली जल बोर्ड के सभी वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट बंद हो जाने के कारण सुबह के समय पानी की सप्लाई नहीं हुई. लोगों को शाम के वक्त ही पानी सप्लाई हो पाएगा. पॉवर ग्रिड कॉरपोरेशन की टीमें लाइनों में आई खराबी को दूर करने में लगी हुई हैं.
नॉर्दन ग्रिड से मिली जानकारी के मुताबिक रात 2 बजकर 32 मिनट पर 400 केवी की ग्वालियर-आगरा सर्किट-2 व 400 केवी की ही जेरदा-कंकरोली इंटर रीजनल लाइनों में खराबी आ गई, जिसके कारण नॉदर्न ग्रिड फेल हो गया. ग्रिड के फेल होते ही पूरा उत्तर भारत संकट में आ गया. हालांकि, दिल्ली को बिजली की सप्लाई करने वाले 705 मेगावॉट क्षमता वाले बदरपुर थर्मल पॉवर प्लांट की 3 यूनिटें और नरौरा, सिम्भावली व राजस्थान के भीनमाल पॉवर प्लांट चलते रहे. आठ घंटे से ज्यादा समय तक 9 राज्यों में बिजली की सप्लाई ठप रही.
ग्रिड की खराबी के कारण दिल्ली, हिमाचल, जम्मू- काश्मीर, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड पंजाब, राजस्थान और मध्य प्रदेश की बिजली सप्लाई चरमरा गई. यहां बिजली की सप्लाई नॉर्मल करने के लिए ईस्टर्न और वेस्टर्न ग्रिड से बिजली की सप्लाई लेनी पड़ी.
दिल्ली जल बोर्ड के मेंबर वॉटर सप्लाई बी. एम. धौल के मुताबिक बिजली गुल होने के कारण सुबह 7 बजे तक सभी वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट ठप हो गए. 7 बजे के बाद नांगलोई वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट को छोड़कर सभी प्लांटों में उत्पादन शुरू हो गया था. प्लांट बंद रहने के कारण सुबह के समय राजधानी में पानी की सप्लाई नहीं होगी. शाम के वक्त ही लोगों को पानी की सप्लाई हो पाएगी. मेट्रो बंद होने के कारण आज सुबह डीटीसी की बसों में जबरदस्त भीड़ देखने को मिली. मेट्रो में सफर करने वाले लोगों को मेट्रो बंद होने के कारण बेहद परेशानी का सामना करना पड़ा.

इस सबके बावजूद जहाँ केन्द्रीय बिजली मंत्री शिंदे यूपीए सरकार की तारीफ करते हुए कहते हैं कि देश में बिजली की कोई कमी नहीं है तो दूसरी तरफ टीम अन्ना ने इस बिजली संकट पर राजनीति करनी शुरू कर दी और इसे यूपीए सरकार की साजिश बताया. टीम अन्ना के कुमार विश्वास ने आरोप लगाया कि अन्ना समर्थकों को आन्दोलन स्थल तक  ना पहुँचने देने के लिए यह नया हथकंडा अपनाया  है केंद्र सरकार ने.

 

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

ओलम्पिक में सभी भारतीय खिलाडियों को मेरी शुभकामनाएं - भूमिका चावला

आजकल जिधर देखो उधर ओलम्पिक का ही बुखार छाया हुआ है चाहे राजनेता हो, फ़िल्मी कलाकार हो या आम इंसान सभी में एक उत्साह सा भरा हुआ है ओलम्पिक खेलों को लेकर. सभी चाहते हैं कि भारत अपनी कुछ तो दावेदारी पेश करे इस बार. कुछ तो मैडल हमारे भी […]
Facebook
escort eskişehir - lidyabet - macbook servis - kabak koyu
%d bloggers like this: