भाई ने ही लूटी बहन की अस्मत…

admin 7
0 0
Read Time:2 Minute, 32 Second

राजस्थान के पली शहर के सुभाष नगर में रहने वाली विवाहित युवती से युवक द्वारा दुष्कर्म का मामला सामने आया है। पीडि़ता का आरोप है कि आरोपी युवक जीतू उर्फ जितेंद्र रावत को उसने धर्म का भाई बना रखा था। जो अपनी बहन की शादी के बहाने उसे अपने साथ ले गया। रास्ते में आरोपी ने पेय पदार्थ में उसे नशीला पदार्थ पिला दिया और बेहोशी की हालत में उसे दिल्ली ले गया। जहां होटल में दो दिन तक आरोपी ने उससे दुष्कर्म किया।

शुक्रवार शाम को पाली लौटी पीडि़ता ने ब्यावर के जीतू उर्फ जितेंद्र रावत के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने पीडि़ता का मेडिकल जांच करा आरोपी की तलाश शुरू की है।  

पाली से भगाया, होश आया तो दिल्ली में पाया

 

महिला थाना प्रभारी उम्मेदसिंह ने बताया कि अजमेर के मसूदा थाना क्षेत्र में लुलवा दांती का बाडिय़ा निवासी 27 वर्षीया युवती अपने पति व तीन बच्चों के साथ पाली के सुभाष नगर में किराए के मकान में रहती है। पाली में उसका पति मजदूरी करता है।

पीडि़ता का आरोप है कि उसने पीहर में पड़ोस के गांव बाणोता का बाडिय़ा (ब्यावर) निवासी जीतू उर्फ जितेंद्र रावत को उसने धर्म का भाई बना रखा था। जिसका अक्सर पाली में भी उसके घर आना-जाना था। आरोप है कि गत 16 जून को अपनी बहन की शादी के बहाने जितेंद्र रावत उसे अपने साथ ले गया और रास्ते में नशीला पेय पदार्थ पिलाया। होश आने पर उसने आप को दिल्ली के एक होटल में पाया।

आरोप है कि दो दिन तक आरोपी ने उसी होटल में उससे दुष्कर्म किया और गत 19 जून की रात को ब्यावर लाकर छोड़ दिया। वहां दो दिन तक अस्पताल में उपचार कराने के बाद शुक्रवार को पाली पहुंच पीडि़ता ने मुकदमा दर्ज कराया।

(भास्कर)

About Post Author

admin

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Facebook Comments
No tags for this post.

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

7 thoughts on “भाई ने ही लूटी बहन की अस्मत…

  1. YE KHABAR KI HEAD LINE THIK NAHI HAI BAHIN KE SATTH…….. YE BAHUR HI GALAT BAAT HAI BAHIN KA RISHTA KEAWL HINDUYO MAI HI HOTA HAI VO US KA SAMMAN BHI JANTE HAI MUH VOLI DIWAR PAR LIKHI ORR JANE KAIYA KAIYA KHABR BANA KAR YE RISHATE BADNAAM KARTE HAI YE JANWAR RISHATA JOD KAR KHAWR BANANA YE BAHUT HI GALAT BAAT HAI MAI IES KI BHARTSHINA KARTA HO.

  2. आज तक मीडिया ने नहीं दिखाया –
    Gujarat has spent Rs. 140 crore for scholarships to 63 lakh Muslims students in the last 10 years –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

बॉस इज़ आलवेज़ राइट .. प्लीज़ डोंट फ़ाइट ...

-गिरीश मुकुल|| सरकारी गैर-सरकारी दफ़्तरों, संस्थानों के प्रोटोकाल में कौन ऊपर हो कौन नीचे ये तय करना आलमाईटी यानी सर्व-शक्तिवान  बॉस नाम के जीवट जीव का कर्म  है. इस कर्म पर किसी अन्य के अधिकार को अधिकारिता से बाहर जाकर अतिचार का दोष देना अनुचित नहीं माना जा सकता. एक दफ़्तर […]
Facebook
%d bloggers like this: