हडकम्प मचा रसूखदारों में – मरवा सकते हैं जसवंती को..

admin 6
0 0
Read Time:2 Minute, 23 Second

अपनी आन और बान की खातिर ऑनर किलिंग के लिए मशहूर हरियाणा के रसूखदार जसवंती के साथ उनका नाम जुड़ने के भय से जसवंती को मरवा सकते हैं. अपना घर बलात्कार कांड की मुखिया  जसवंती नरवाल ने पिछले दिनों  यह बयान दे कर नेताओं और आला अधिकारियों को परेशानी में डाल दिया है कि कोर्ट में सुनवाई के दौरान वह कई बड़े नामों का खुलासा करेगी जो “अपना घर” की सेवाओं का लाभ उठाते थे. जसवंती का दावा है कि ये सभी नेता और अफसर ‘अपना घर’ में अक्‍सर आते थे. जसवंती के इस बयान ने कई अधिकारीयों तथा रसूखदारों और नेताओं की नींद हराम कर दी है. हरियाणा के पिछले इतिहास को देखते हुए जानकारों को अंदेशा है कि हिरासत में चल रही जसवंती को कहीं मौत के घाट न उतार दिया जाये.
गौरतलब है कि हरियाणा ऐसी हरकतों के लिए कुख्यात है. जब भी किसी के व्यक्ति के कारण हरियाणा में किसी मुख्यमंत्री या बड़े राजनेता के फंसने कि नौबत आयी तो संकट का हल उस व्यक्ति का कत्ल कर निकाला  गया. किसी को गोली मारी गयी तो किसी को पत्थर बांध कर नहर में फेंक दिया गया.  यहाँ तक कि एक मामले में तो पुलिस से एनकाउन्टर कर मरवा दिया गया. अब ये दीगर बात है कि जिस पुलिस डीजीपी कि अगुवाई में ऐसा फर्जी एनकाउन्टर हुआ था उस डीजीपी को इस मामले में जेल की हवा खानी पड़ी.

ऐसे हालातों में सींखचों के पीछे बंद जसवंती को मरवा दिया जाना बहुत आसान सी बात है, कोई बड़ी बात नहीं. यदि दो चार दिन में खबर आये कि जसवंती ने अपनी बदनामी से निराश होकर दीवार से सर टकरा – टकरा कर जान दे दी या सींखचों में चुन्नी फंसा कर लटक गयी इत्यादि बहानों के साथ जसवंती की मौत की खबर कोई अजूबा नहीं होगी.

About Post Author

admin

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Facebook Comments

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

6 thoughts on “हडकम्प मचा रसूखदारों में – मरवा सकते हैं जसवंती को..

  1. आप से निवेदन है की इस पेज को लाइक करें.
    http://facebook.com/AISWC

    दोस्तों ,
    सिर्फ हंगामा खड़ा करना मेरा मकसद नहीं…..
    मेरी कोशिश है कि ये सूरत बदलनी चाहिए……
    भरोसे की आंधी चलाये रखना।.
    मिलेगी मंजिल भ्रष्टाचार मिटाने की,
    अपने दिलो मे राष्ट्र-प्रेम समाय रखना।.

    ''असतो मा सद्गमय! मृत्योर्मा अमृतमगमय! तमसो मा ज्योतिर्गमय!''.

    गुरूर्ब्रम्हा गुरूर्विष्णु: गुरूर्देवो महेश्वर:।.
    गुरु: साच्छात् परब्रम्ह तस्मै श्री गुरवे नम: ।।.

  2. It seen in past in such big cases of crime the high lel official / political leader are involved in such crimes . the exposure of them , can always victimised to life denger who had disclosed the secreets

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

रक्षा मंत्री बने भक्षक, पत्नी की आठ पेंटिंग्स एयर इंडिया को बिकवाई 25 करोड़ में

-प्रवीण शुक्ल|| केंद्र सरकार में बैठे मंत्री किस तरह देश को चूना लगा रहे हैं इसका ताज़ा उदाहरण है केन्द्रीय रक्षा मंत्री ए के एंटोनी. यह रक्षा मंत्री देश की कैसी शानदार रक्षा कर रहे हैं कि इनकी पत्नी एलिज़ाबेथ एंटोनी की आठ पेंटिंग्स लगातार घाटे के कारण बंद होने के कगार पर […]
Facebook
%d bloggers like this: