बलात्कार का आरोपी स्वामी नित्यानंद गिरफ्तार होगा..

admin 12
0 0
Read Time:3 Minute, 47 Second

यौन शोषण और बलात्कार के आरोपों का सामना कर रहे विवादास्पद धर्मगुरु स्वामी नित्यानंद को जल्द ही गिरफ्तार किया जा सकता है। पुलिस ने उनकी गिरफ्तारी के लिए सर्च वारंट जारी कर दिया है। राज्य सरकार द्वारा उन्हें दो दिन के अंदर गिरफ्तार करने के आदेश दिए गए हैं. गौर तलब है कि एक कन्नड़ टी वी चैनल पर तीन दिन पहले से प्रसारित हुए एक कार्यक्रम में कुछ महिलाओं ने  धर्मगुरु स्वामी नित्यानंद पर यौन शोषण के आरोप लगाये थे.

नित्यानंद पर कई महिलाओं ने कन्नड़ टीवी चैनल सुवर्ण न्यूज़ पर प्रसारित वीडियो में यौन शोषण करने का आरोप लगाया था. देखे वीडियो:

[yframe url=’http://www.youtube.com/watch?v=RftEpHUN3b8′]

 

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सदानंद गौड़ा ने राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक बाद नित्यानंद की गिरफ्तारी का फैसला लिया है। उन्होंने बताया कि आश्रम में कुछ दिन पहले मीडिया और समर्थकों के बीच हुई झड़प के संबंध में पुलिस द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट के आधार पर यह निर्णय लिया गया है। दो दिन के अंदर स्वामी नित्यानंद की गिरफ्तारी हो जाएगी। इस बाबत राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

कर्नाटक सरकार के कानून मंत्री के मुताबिक सरकार स्वामी के बेंगलुरू स्थित आश्रम को सील कर सकती है। एस. सुरेश कुमार ने कहा था, “सरकार आश्रम में आपत्तिजनक गतिविधियां होने के आरोपों को देखते हुए इस पर नियंत्रण स्थापित करने एवं प्रशासक नियुक्त करने पर विचार कर रही है।” यह आश्रम बेंगलुरू से 35 किमी दूर बिडाडी में 29 एकड़ में फैला है।

गौरतलब है कि स्वामी पर अश्लीलता, सेक्स और रेप जैसे कई संगीन आरोप लगे हुए हैं। कुछ महीने पहले ही सीआईडी ने उनके खिलाफ रामानगरम अदालत में एक चार्जशीट दाखिल किया था। इसमें दावा किया गया था कि नित्यानंद ने महिलाओं के अलावा अपने एक विदेशी भक्त के साथ कई बार शारीरिक संबंध बनाए हैं। कर्नाटक के बिदादी आश्रम के अलावा अमेरिका में कुछ शहरों में उन्होंने अपने इस भक्त के साथ अप्राकृतिक सेक्स संबंध बनाए थे।

सीआईडी ​​द्वारा दाखिल चार्जशीट में साफ कहा गया था कि प्राप्त सबूतों में यह बात सामने आई है कि नित्यानंद अप्राकृतिक सेक्स भी करते थे। विदेशी भक्त की पहचान गुप्त रखी गई। सीआईडी के अधिकारियों ने उसके साथ की गई बातचीत का वीडियो रिकार्ड कर लिया था।

स्वामी नित्यानंद का एक और सेक्स स्केंडल वीडियो:

[yframe url=’http://www.youtube.com/watch?v=OtOInIrg5Ow’]

About Post Author

admin

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Facebook Comments
No tags for this post.

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

12 thoughts on “बलात्कार का आरोपी स्वामी नित्यानंद गिरफ्तार होगा..

  1. Rascal Bastard nityanand. Aise swami ke rup mein neech haraamzyado ko sare aam goli se uda dena chahaiye taki doosre aisa karne se be dare.Humare desh ko barbaad karne wale mein corrupt politicians, bureocrats, Nirmal baba, radheMaa, nityanand jaise dhongi sadhoo ka bahut bada yogdaan hai. Solution sirf ek hai: SAKT KANOON KO LAAGO KARNA AUR FAST TRACK COURT BANA KAR AISE SARE LOGO KA SAFAYA KARNA.

  2. बाबा कोअ जल्दसेअ जल्द भजन चाहिय कडिय स कडिय सजा मिअलना चाहिए

  3. गिरफ्तर ‘होंगे’ मतलब क्या? इस ठरकी और बलात्कारी को इतना सम्मान क्यों?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

एनोनिमस समूह द्वारा इन्टरनेट पर सरकारी नियंत्रण के विरोध स्वरूप देशभर में प्रदर्शन

खुद को ‘एनोनिमस’ बुलाने वाले हैकर्स के समूह, इंटरनेट पर सरकारी और गैर-सरकारी संस्थाओं के अघोषित नियंत्रण के विरोध में, भारत के सोलह शहरों में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. देश की आर्थिक राजधानी कही जाने वाली मुंबई का ‘आज़ाद खेल मैदान’ जो हमेशा खेलते कूदते बच्चों से भरा होता […]
Facebook
%d bloggers like this: