मिन्‍नतों के बाद भी नहीं माने पत्रकार, बयान को हटाने को लेकर गतिरोध जारी

Desk

जम्‍मू विधानसभा स्‍पीकर मोहम्‍मद अकबर लोन की मीडिया के उनके कंट्रोल में रहने की टिप्‍पणी को लेकर शुरू हुआ विवाद अब भी जारी है। स्‍पीकर के बयान से नाराज मीडियाकर्मियों ने लगातार दूसरे दिन राज्‍य के दोनों सदनों की कार्रवाई का बहिष्‍कार किया। मीडियाकर्मियों को मनाने के लिए चौतरफा प्रयास किया गया। सरकार, विपक्ष और सदन के कई प्रतिनिधियों ने इस गतिरोध को खतम करने की कोशिश की पर आखिर तक सफलता नहीं मिल पाई।

यह विवाद लोन के उस बयान के बाद शुरू हुआ है, जिसमें उन्‍होंने कहा था कि मीडिया उनके नियंत्रण में है और यदि वह चाहें तो मीडिया को अपने सोर्स का खुलासा करना पड़ेगा। इस बयान के बाद ही मीडियाकर्मियों ने विधानसभा की कार्यवाही का बहिष्‍कार कर दिया था। बुधवार को भी पत्रकार विधानसभा परिसर पहुंचकर सीढि़यों पर धरना देकर बैठ गए। सबसे पहले सीएम के एडवाइजर देवेंद्र सिंह राणा ने मीडियाकर्मियों को मनाने-समझाने का प्रयास किया पर पत्रकार टस से मस नहीं हुए।

इसके बाद माकपा विधायक एमवाई तारिगामी भी मीडियाकर्मियों को सदन में आने के लिए कहा परन्‍तु मीडियाकर्मी स्‍पीकर के आपत्तिजनक टिप्‍पणी को विधानसभा की कार्रवाई से बाहर निकालने की मांग पर डंटे हुए थे। इसके बाद संसदीय कार्य एवं कानून मंत्री अली मोहम्‍मद सागर, पैंथर्स पार्टी के विधायक हर्षदेव सिंह भी पत्रकारों को मनाने के लिए आए। इन लोगों ने बताया कि स्‍पीकर इस मामले को सुलझाने के लिए तैयार हैं, परन्‍तु पत्रकार आपत्तिजनक अंश को कार्रवाई से हटाने पर अड़े हुए थे। समझा जा रहा है कि गुरुवार को भी पत्रकारों का बहिष्‍कार जारी रहेगा।

 

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

आखिर उस पत्रकार पर क्‍यों भड़क गए श्रीकांत?

एशिया कप के लिए टीम इंडिया का ऐलान कर दिया गया है। इसमें वीरू का नाम नहीं है। चीफ सलेक्‍टर श्रीकांत ने वीरेंद्र सहवाग को अनफिट होने के चलते आराम देने की बात कही, पर इसी दौरान जब एक पत्रकार ने उनसे पूछ लिया कि क्‍या सहवाग को बाहर करने […]
Facebook
escort eskişehir - lidyabet - macbook servis - kabak koyu
%d bloggers like this: