चिटफंडियों के चैनल जीएनएन न्‍यूज में स्‍ट्राइक, नहीं प्रसारित हुआ बुलेटिन

Desk
0 0
Read Time:4 Minute, 2 Second

चिटफंडियों के चैनल जीएनएन न्‍यूज से खबर है कि वहां पर पीसीआर एवं कैमरा सेक्‍शन के कर्मचारियों ने स्‍ट्राइक कर दिया है। इसके चलते पांच बजे का बुलेटिन प्रसारित नहीं हो पाया। बताया जा रहा है कि बहुधंधी चिटफंड ग्रुप के इस चैनल का वित्‍तीय स्थिति खस्‍ता है, जिसके चलते यह अपने कर्मचारियों को समय से सेलरी नहीं मिल पा रहा है। यह हालात पिछले दिनों चिटफंड के धंधे पर व्‍यापक छापेमारी के बाद आया है। कर्मचारियों की भयानक छंटनी के बाद भी यह चैनल सही समय से सेलरी नहीं दे पा रहा है।

बताया जा रहा है कि चिटफंडियों की इस कंपनी के चैनल में कर्मचारियों को जनवरी माह का वेतन नहीं मिला है। जनवरी का वेतन कब तक आएगा इसकी जानकारी भी कोई नहीं दे रहा है, जिसके चलते नाराज कर्मचारियों ने हड़ताल कर दी। उनकी मांग है कि जब तक वेतन नहीं आएगा वे काम नहीं करेंगे। खबर है कि नवनियुक्‍त जीएम जगमीत सिंह अरोड़ा मामले को सुलटाने की कोशिशों में जुटे हैं, पर चैनल हेड के रूप में जिम्‍मेदारी संभालेने वाले महरुफ रजा मौके से गायब हैं। बताया जा रहा है कि वो कार्यालय भी नहीं आए हैं। सूत्र बताते हैं कि महरुफ ही पूरा खेल करा रहे हैं, जो जीएम की नियुक्ति के बाद से प्रबंधन से खुश नहीं हैं। हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हो पाई पर कहा जा रहा है कि इसी वजह से वे कार्यालय से गायब हैं।

खबर है कि चैनल लूप पर चलाया जा रहा है तथा एमसीआर से पुराने कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। हड़ताल के चलते साढ़े छह बजे होने वाला डिस्‍कशन का प्रोग्राम भी टाल दिया गया है। मेहमानों को भी मना कर दिया गया है। जगजीत सिंह मामले को समझाने में जुटे हुए हैं, पर कर्मचारी कुछ भी सुनने को तैयार नहीं हैं। उल्‍लेखनीय है कि चिटफंड के रूप में जीएन गोल्‍ड समेत कई कंपनियों का संचालन करने वाला जीएन ग्रुप का चैनल लांचिंग के पहले से ही विवादों में रहा है। अल्‍प समय में ही यहां कई वरिष्‍ठ बदले जा चुके हैं। बड़ी छंटनी भी की जा चुकी है, इसके बावजूद कोई भी चीज पटरी पर नहीं आ पाई।

जानकारी के अनुसार पिछले काफी समय से जीएनएन में काम कर रहे कर्मचारियों की सेलरी कई दिन लेट आ रही थी। इस बार भी जनवरी की सेलरी अब तक नहीं आई है जबकि फरवरी बीतने जा रहा है। आश्‍वासनों के सहारे कर्मचारियों से काम लिया जा रहा था। पर अब कर्मचारी मानने को तैयार नहीं हैं। कर्मचारी अपनी सेलरी दिए जाने की मांग पर अड़े हैं। बताया जा रहा है कि जगजीत सिंह अरोड़ा ने भी कर्मचारियों को समझाने का प्रयास किया तथा आश्‍वासन दिया कि दो-तीन दिन में सेलरी आ जाएगी पर कर्मचारी मानने को तैयार नहीं हैं। एक दिलचस्‍प तथ्‍य यह है कि कहीं भी दिखाई न पड़ने वाला यह चैनल आजतक, स्‍टार न्‍यूज, जीटीवी, आईबीएन7, इंडिया टीवी जैसे चैनलों को पीछे छोड़ते हुए तीन दिन पहले ही बेस्‍ट डिट्रीब्‍यूशन का अवार्ड जीता है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Facebook Comments

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

क्‍या स्‍पीकर के कंट्रोल में है जम्‍मू कश्‍मीर की मीडिया?

जम्मू : क्‍या सचमुच जम्‍मू कश्‍मीर की मीडिया विधानसभा स्‍पीकर मोहम्‍मद अकबर लोन के कंट्रोल में है या फिर ये स्पिकर का बड़बोलापन है। इस बात को लेकर जम्‍मू कश्‍मीर की मीडिया बवाल काट रही है। विधानसभा स्पीकर मोहम्मद अकबर लोन ने कल कहा कि ‘मीडिया मेरे कंट्रोल में है। […]
Facebook
%d bloggers like this: