Home देश पायलट खेमे में बढ़ गई गहमागहमी.. 14 तक तीस विधायको के समर्थन का दावा..

पायलट खेमे में बढ़ गई गहमागहमी.. 14 तक तीस विधायको के समर्थन का दावा..

-महेश झालानी||

मानेसर के पास तावडू रोड पर स्थित बेस्ट वेस्टर्न कंट्री क्लब रिसोर्ट में आज सुबह 10 बजे बाद एकाएक गहमा-गहमी तब बढ़ गई जब सचिन पायलट खेमे में दो विधायको का और इजाफा होगया है । पायलट खेमे की ओर से कल इस रिसोर्ट में 49 कमरों की बुकिंग कराई गई है । सभी विधायको का आवागमन पिछले दरवाजे से है ताकि एसओजी, एसीबी तथा मीडिया के लोगों की निगाह से बचा जा सके । इन विधायकों के साथ सचिन पायलट भी है ।

ज्ञात हुआ है पायलट कल रविवार को सचिन पायलट ऑडी कार से इस रिसोर्ट में आये । बताया जा रहा है कि इनके साथ 22 विधायक है । इसके अलावा करीब 25 समर्थक है जिनमे हरियाणा के राजनेताओं और कारपोरेट हाउस लोग शामिल है । 49 कमरों में से 30 कमरे विधायकों के लिए 18 अगस्त बुक किये गए है । शेष कमरों में समर्थक ठहरेंगे ।

दिल्ली नम्बर की इस ऑडी कार को खुद पायलट ड्राइव करके लाये थे । यहां आकर इन्होंने अपने समर्थकों साथ बैठक कर आगे की रणनीति पर विचार किया । तत्पश्चात पायलट ने यही लंच लिया । रिसोर्ट के रजिस्टर में किसी विधायक का इंद्राज नही है । यह सारी सावधानी इसलिये बरती गई है ताकि कोई भी विधायक एसओजी या एसीबी के हत्थे नही चढ़ सके । भंवरलाल शर्मा और विश्वेन्द्र सिंह को अन्य विधायको से अलग सीता हेरिटेज होटल में रखा गया बताया ।

भरोसेमंद सूत्रों ने बताया कि शनिवार को पायलट खेमे में 24 विधायक थे । इनमे से भंवरलाल शर्मा और विश्वेन्द्र सिंह को मानेसर के ही सीता हेरिटेज होटल में शिफ्ट कर दिया गया है । ज्ञात हुआ है कि रविवार को सम्पन्न बैठक में लंबे समय तक चर्चा हुई । विधायको ने बताया कि गहलोत खेमे के कई विधायक उनके संपर्क में है तथा तीन चार विधायको लाने का प्रयास किया जा रहा है ।

सूत्रों ने बताया कि बैठक में मीडिया से दूरी बनाने का निर्णय लिया गया । साथ ही सभी को यह हिदायत दी गई कि सब अपने फोन बंद रखे । रणनीति के तहत मीडिया को केवल यही कहने का निर्णय हुआ है कि वे आलाकमान के सामने अपनी बात रखना चाहते है । किसी भी नेता या पार्टी के खिलाफ बोलने पर सख्त पाबंदी लगाई गई है ।

पायलट गुट खामोश रह कर अपनी रणनीति को अंजाम देना चाहता है । क्योंकि पत्ते खोंलने पर दूसरा उसी के अनुरूप रणनीति बनाकर परास्त कर सकता है । इसलिए सबसे बेहतर है कि चुप रहकर विरोधी खेमे में सेंधमारी की जाए । रविवार को हुई बैठक में पायलट ने अपने समर्थक विधायको को भरोसा दिलाया कि 14 अगस्त से पूर्व 30 विधायको का समर्थन हासिल हो जाएगा ।

सूत्रों से खबर मिली है कि दो दर्जन से ज्यादा केंद्रीय खुफिया एजेंसी के लोग जैसलमेर के होटल सूर्यगढ़ और गोरबन्द में तैनात है । इन सबको आंध्रप्रदेश कैडर का एक आईपीएस अधिकारी लीड कर रहा है । मुख्यालय से होते हुए गृह सचिव अजय भल्ला तत्पश्चात गृह मंत्री अमित शाह तक पहुंच रही है ।

Facebook Comments
(Visited 2 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.