Home देश बेइज़्ज़त कर सीएस के पद से हटाया, आखिर डीबी गुप्ता का होगा क्या ?

बेइज़्ज़त कर सीएस के पद से हटाया, आखिर डीबी गुप्ता का होगा क्या ?

-महेश झालानी।।

मुख्य सचिव रहे डीबी गुप्ता के पास घर बैठने के अलावा अब कोई विकल्प नही बचा है । संभावना यही व्यक्त की जा रही है कि या तो वे रिटायर्डमेन्ट अथवा अवकाश पर जा सकते है । गुप्ता 30 सितम्बर को रिटार्यड होंगे ।

यह भी चर्चा है कि इनको सीएमओ में सलाहकार के पद पर नियुक्ति दे दी जाए । यह ऑफर इन्हें पहले भी दिया गया था, लेकिन गुप्ता ने इसे ठुकरा दिया । इनका कहना था कि सीएमओ में पहले से दो सलाहकार तैनात है । बतादे कि गोविंद शर्मा और अरविंद मायाराम मुख्यमंत्री कार्यालय में सलाहकार के पद पर कार्य कर रहे है । लेकिन दोनों के पास कोई विशेष काम नही है । ये दोनों सलाहकार प्रोटोकॉल के हिसाब से मुख्य सचिव के अधीन है ।

यदि डीबी गुप्ता सलाहकार बन भी जाते है तो उन्हें मुख्य सचिव के सामने हाथ बांधकर खड़ा रहना होगा । मुख्य सचिव रहा हुआ व्यक्ति अपने से जूनियर के आगे हाथ बांधकर कभी खड़ा नही रहना चाहेगा । वैसे भी जिस तरह गुप्ता को सार्वजनिक रूप से बेज्जत कर बेदखल किया गया है, उसको देखते हुए सलाहकार बनाना सम्भव नही लगता है ।

एक संभावना मुख्य सूचना आयुक्त के पद पर नियुक्ति की थी । लेकिन यह संभावना भी नजर नही आती । क्योकि यह संवैधानिक पद है तथा इस पद पर मनोनयन ना होकर चयन होगा । सर्वोच्च न्यायालय ने निर्देश दिए है कि आयुक्तों का चयन करने से पूर्व सभी आवेदकों से आवेदन मांगे जाए ताकि चयन में पारदर्शिता बनी रहे ।

इस चयन समिति का मुख्यमंत्री अध्यक्ष होता है । तथा विपक्ष के नेता और अन्य मंत्री सदस्य होते है । आये हुए आवेदनों के आधार पर व्यक्ति का मुख्य सूचना आयुक्त के पद पर चयन होगा । इसकी संभावना बहुत कम लगती है कि गुप्ता आवेदन पत्र के माध्यम से आना चाहेंगे । वैसे भी जिस व्यक्ति से सीएम खफा हो, उसका चयन सम्भव नही है ।

आरपीएससी में जाने का फिलहाल कोई चांस इसलिए नही क्योकि यहाँ अध्यक्ष का पद रिक्त नही है । दीपक उप्रेती इस पद पर तैनात है । उनके रिटायरमेंट में अभी तीन चार माह बाकी है । यहाँ भी पद खाली होने के बाद ही नियुक्ति हो सकती है । किसी को जबरन थोपा नही जा सकता है ।

गुप्ता कहाँ नियुक्त होंगे या उनके भविष्य की योजना क्या होगी, इसको जानने के लिए सभी उत्सुक है । ब्यूरोक्रेशी में सबसे ज्यादा चर्चा इसी बात की है कि डीबी गुप्ता को मुख्य सचिव पद से अचानक हटाया तो हटाया क्यो ? पूरी ब्यूरोक्रेशी यह जानती है कि गुप्ता संवेदनशील और हार्मलेश व्यक्ति है । उनसे ऐसी क्या गुस्ताखी हुई कि सीएम को अचानक ऐसा अप्रिय और कठोर कदम उठाना पड़ा ।

Facebook Comments
(Visited 1 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.