किसके निर्देश पर छूटा मिराज का माल ?

Desk
0 0
Read Time:4 Minute, 11 Second

मोरारी बापू का चेला मदन पालीवाल मौत बांटकर कमा रहा है रोज 100 करोड़ रुपये..

-महेश झालानी।।

मोरारी बापू के परम शिष्य तथा राजनेताओं के सबसे चहेते मिराज तम्बाकू बेचने वाले मदन पालीवाल के प्रभाव के कारण 35 करोड़ का माल मंत्री और राजनेताओं के आदेश पर कुछ ही घंटों में छूट गया । तर्क यह दिया गया कि तम्बाकू के परिवहन और निर्माण पर कोई रोक नही है । “ऊपर” से फोन आते ही पुलिस माल को छोड़ने में तेजी से सक्रिय हो गई । पुलिस द्वारा छोड़ा गया माल ब्लैक में 500 करोड़ से ज्यादा में बिकेगा ।

पिछले साल हजारों लोगों की उपस्थिति में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गांधी स्मारक पर गाँधीजी की प्रतिमा के सामने 2 अक्टूबर को घोषणा की थी कि अब राजस्थान तम्बाकू रहित प्रदेश बन गया है । अब यहां ना तो तम्बाकू से निर्मित वस्तुएँ बिकेगी और न ही उनका परिवहन होगा । अब सवाल उठता है कि अजमेर में पकड़ा गया मिराज का माल क्यो और किसके कहने पर छोड़ा गया ?

एक तरफ कोरोना संकट के दौरान करोड़ो लोग अपनी हैसियत के हिसाब से समाज सेवा में जुटे हुए है । दूसरी ओर मदन पालीवाल जैसे लोग संकट की इस घड़ी में भी जनता को बेरहमी से मौत के घाट उतारने में पीछे नही है । पर्दे के पीछे से सरकार चलाने वाले मिराज खैनी बेचने वाले मदन पालीवाल की प्रतिदिन 100 करोड़ रुपये से ज्यादा की आय है । दस रुपये वाले पाउच की कीमत ब्लेक में 100 रुपये से ऊपर है । कुछ दिनों पहले इसका भाव डॉलर के बराबर था, जो आज बढ़कर करीब 120 रुपये होगया है । मदन पालीवाल के एक कर्मचारी के मुताबिक लॉक डाउन के दौरान 5000 करोड़ से ज्यादा का माल कमाया है ।

अफसरों की मिलीभगत तथा राजनेताओं के संरक्षण की वजह से पूरे प्रदेश में गुटखा, खैनी, सिगरेट, बीड़ी आदि की धड़ल्ले से बिक्री हो रही है । बीड़ी का एक बंडल डेढ़ सौ रुपये पार कर गया है । बेचारे मजदूर और गरीब आदमी महंगे दामो पर बीड़ी और गुटखा आदि खरीदने को विवश है । नाथद्वारा से चलकर तम्बाकू पूरे प्रदेश में सप्लाई हो रहा है ।

कभी बाबूगिरी करने वाले मदन पालीवाल ने 200 रुपये उधार लेकर 1987 में नाथद्वारा से मिराज के नाम से खैनी बनाने का कारोबार प्रारम्भ किया था । आज इसका सालाना टर्न ओवर 15000 करोड़ से ज्यादा का है । आज बड़े से बड़ा राजनेता, संत तथा फिल्मी अभिनेता आदि मदन पालीवाल की चौखट पर ढोक देने आते है । कथा वाचक मोरारी बापू तो आये दिन यही पड़ा रहता है । कथा आदि की बुकिंग मदन के जरिये ही होती है ।

मोटे अनुमान के अनुसार मिराज का सेवन करने से अब तक अनगिनत लोग कैंसर से पीड़ित हो गये है और हजारों लोगों की मौत हो चुकी है । मौत के सौदागर को महान संत मोरारी बापू का पूरा संरक्षण हासिल है । पीएम और सीएम फंड में दस बीस करोड़ दान देकर मौत का सौदागर दानवीर कर्ण की श्रेणी में शुमार हो जाएगा ।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Facebook Comments

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

रामकली तो एक बहाना मजदूरों की पीड़ा का..

छाले पड़े पांव में पैदल घिसट रही है रामकलीभूखी प्यासी है खुद में ही सिमट रही है रामकली लॉक डाउन की दूरी भूली भूल गई कोरोना कोगोदी के बच्चे से देखो चिपट रही है रामकली खाने रहने के आश्वासन केवल आश्वासन झूठेसत्ता को गाली दे देकर निपट रही है रामकली […]
Facebook
%d bloggers like this: