सत्ता में आते ही मुफ़्ती के सुर बदले..

Desk

पीडीपी और भाजपा के बीच दो महीने की मैराथन बैठकों के बाद रविवार को मुफ्ती मोहम्मद सईद के नेतृत्व में जम्मू- कश्मीर में गठबंधन सरकार का गठन हो गया। इतिहास में पहली बार भाजपा यहां किसी सरकार का हिस्सा बनी है।

जम्मू विश्वविद्यालय के जनरल जोरावर सिंह आडिटोरियम में सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में मुफ्ती मोहम्मद सईद ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। उनके साथ पीडीपी व भाजपा के 24 विधायकों ने भी मंत्री पद की शपथ ली। शपथ लेने वालों में अलगाववादी संगठन पीपुल्स कांफ्रेंस के नेता सज्जाद गनी लोन भी शामिल है जो अलगाववादी धारा को छोड़ कर पहली बार मंत्री बने हैं। उन्हें भाजपा कोटे से मंत्री बनाया गया है।

शपथ ग्रहण के बाद नए उपमुख्यमंत्री डॉ. निर्मल सिंह के साथ गठबंधन सरकार का न्यूनतम साझा कार्यक्रम जारी करते हुए मुफ्ती ने राज्य में चुनावी माहौल बनाने का श्रेय पाकिस्तान और अलगाववादियों को भी दिया। उन्होंने पाकिस्तान का हवाला देते कहा कि सीमा पार के लोगों ने माहौल को चुनाव के लायक बनाने में सहयोग दिया। ऐसी ही भूमिका निभाते हुए अलगाववादियों ने भी स्पष्ट संकेत दिए कि वे चाहते हैं कि राज्य में लोकतांत्रिक ढांचा बहाल हो। अलगाववादी नेता सज्जाद लोन के भाजपा के कोटे में मंत्री बनने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह एक नई शुरुआत है और अन्य भी इस पर अमल कर सकते हैं। इसलिए कि हीरे को हीरा ही काटता है।

अफस्पा पर समयसीमा नहीं

अफस्पा हटाने के मुद्दे पर मुफ्ती ने कहा कि राज्य में शांति कायम करना अधिक महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि अफस्पा हटाने के लिए समयसीमा तय नहीं है। नए सीएम के अनुसार, ‘एकीकृत मुख्यालय का चेयरमैन होने के नाते सेना, सुरक्षाबल मेरा निर्देश मानेंगे और हम गलती नहीं करने देंगे। सेना, सुरक्षाबलों के कब्जे वाली जमीन वापस ली जाएंगी।’ वहीं राज्य के विशेष दर्जे पर यथास्थिति कायम रहने का दावा करते हुए मुफ्ती ने कहा कि सेल्फ रूल के मायने दोनों ओर के लोगों के बीच आने जाने के रास्ते खोलना है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से बातचीत की प्रक्रिया शुरू होने वाली है।mufti_story_650_030115124706

नया इतिहास लिखेंगे

भाजपा से गठजोड़ को मजबूरी नहीं, प्रतिबद्धता करार देते हुए मुफ्ती ने कहा कि न्यूनतम साझा कार्यक्रम के जरिये सरकार का मजबूत आधार बनाया गया है। इसके लिए तीन महीने और भी इंतजार करना होता तो मंजूर था। उन्होंने कहा कि भाजपा को राज्य में लोगों ने सत्ता दी है, दोनों पार्टियां मिलकर राज्य का इतिहास बदल देंगी। क्षेत्रवाद का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि नार्थ पोल को साउथ पोल से मिलाना है।

अटल जी ने की थी शांति बहाली की पहल

मुफ्ती ने अपने 2002 के कार्यकाल की उपलब्धियों की बखान करते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में पड़ोसी देश से संबंध स्थापित करने की दिशा में सराहनीय पहल हुई। वाजपेयी ने कारगिल, संसद पर हमले के दौरान संयम बरता।

भाजपा के अपने नौ बने मंत्री

शपथ लेने वालों में पीडीपी के 13 भाजपा के 9, पीपुल्स कांफ्रेंस के एक व एक निर्दलीय विधायक मंत्री बने। चूंकि पीपुल्स कांफ्रेंस व निर्दलीय विधायक का भाजपा को समर्थन हासिल है, इसलिए यह कहा जा सकता है कि भाजपा के कोटे से 11 और पीडीपी के खाते से 13 मंत्री बने। भाजपा के डा. निर्मल सिंह को उप मुख्यमंत्री बनाया गया है। दो महिलाओं को मंत्री पद दिया गया है। मुफ्ती समेत 17 कैबिनेट के मंत्री बनाए गए है जबकि आठ राज्य मंत्री बनाए गए है।

दिग्गज बने गवाह

शपथ ग्रहण समारोह में भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवानी, मुरली मनोहर जोशी, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और पार्टी महासचिव व राज्य प्रभारी राम माधव भी मौजूद थे।

यह है मुफ्ती मंत्रिमंडल

मुख्यमंत्री – मुफ्ती मोहम्मद सईद

उप मुख्यमंत्री – डा. निर्मल सिंह

पीडीपी के कोटे से बने मंत्री

अब्दुल रहमान वीरी

जावेद मुस्तफा मीर

अब्दुल हक खान

सैयद बशारत बुखारी

चौधरी जुल्फिकार अली

हसीब द्राबु

गुलाम नबी लोन हजूरा

मोहम्मद अल्ताफ बुखारी

इमरान रजा अंसारी

नईम अख्तर

अब्दुल माजिद पाडर

मोहम्मद अशरफ मीर

आसिया नागाश

भाजपा के मंत्री

चंद्र प्रकाश गंगा

चौधरी लाल सिंह

बाली भगत

चौधरी सुखनंदन

शेरिंग दोरजे

सुनील शर्मा

अब्दुल गनी कोहली

प्रिया सेठी

पीपुल्स कांफ्रेंस

सज्जाद गनी लोन

निर्दलीय पवन गुप्ता

‘मुफ्ती साहब कहते हैं कि पाकिस्तान, अलगाववादियों और आतंकियों ने चुनाव की इजाजत दी है, हमें इस बड़प्पन के लिए उनका आभारी होना चाहिए। अब भाजपा बताए कि उनके सीएम कह रहे हैं कि सफल चुनाव के लिए पाकिस्तान जिम्मेदार है तो सुरक्षाबलों व पोलिंग स्टाफ ने क्या किया।’ -उमर अब्दुल्ला, पूर्व मुख्यमंत्री

(जागरण)

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

जी हाँ , उस लड़के का नाम जैग़म इमाम है..

-अजीत अंजुम|| साल 2007 के मई -जून का महीना रहा होगा. हम लोग ‘ न्यूज़ 24 ‘ चैनल की तैयारियों में व्यस्त थे . टीवी में काम करने को इच्छुक नए-पुराने पत्रकारों के फ़ोन आते रहते थे. एक दिन नोएडा से एक लड़के का फ़ोन आया . उस लड़के ने […]
Facebook
escort eskişehir - lidyabet - macbook servis - kabak koyu
%d bloggers like this: