/* */

दिल्ली में महिला से रेप का आरोपी ड्राइवर अब भी फरार

Page Visited: 233
0 0
Read Time:7 Minute, 57 Second

नई दिल्ली, एक ग्लोबल कंपनी में काम करने वाली 25 साल की एग्जेक्युटिव से एक प्राइवेट टैक्सी सर्विस के ड्राइवर द्वारा रेप की वारदात सामने आई है. घटना शुक्रवार रात की है, जब महिला साउथ दिल्ली के वसंत विहार में एक पार्टी से अपने घर इंद्रलोक लौट रही थी. पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल की गई कैब को बरामद कर लिया है और आरोपी ड्राइवर की तलाश की जा रही है. रविवार सुबह पुलिस ने मथुरा से एक शख्स को हिरासत में लिया था, मगर जांच में साफ हुआ कि वह शख्स आरोपी ड्राइवर नहीं, बल्कि कोई और है.

cab

महिला ने पार्टी से लौटते वक्त अमेरिकी कैब कंपनी ऊबर के मोबाइल ऐप से कैब मंगवाई थी. शुक्रवार रात 11 से 12.45 बजे के बीच स्विफ्ट डिजायर कैब के अंदर यह घटना हुई. अभी तक यह नहीं पता चल पाया है कि वारदात को कहां अंजाम दिया गया. विक्टिम अंधेरे, उत्पीड़न और अपने दोस्तों के साथ थोड़ी शराब पीने की वजह से जगह की पहचान नहीं कर पा रही है.

ड्राइवर की पहचान 32 साल के शिव कुमार यादव के रूप में हुई है, जो उत्तर प्रदेश के मथुरा का रहने वाला है. पुलिस ने शनिवार को मामला दर्ज करके आरोपी की धरपकड़ के लिए स्पेशल सेल, क्राइम ब्रांच और नॉर्थ डिस्ट्रिक्ट पुलिस की टीमें बनाकर छापामारी शुरू कर दी है. खबर आई थी कि पुलिस ने उसे पकड़ लिया है, मगर अब साफ हुआ है कि वह अब भी फरार है. इससे पहले पुलिस ने एक शख्स को आरोपी समझकर हिरासत में लिया था, लेकिन वह कोई और निकला.

विक्टिम महिला ने पुलिस को बयान दिया है कि वह अपने दोस्तों के साथ गुड़गांव के एक पब में पार्टी कर रही थी. इसके बाद वह 9 बजे के करीब वसंत विहार में अपने दोस्त के यहां निकल गई. इस बीच उसने अपने स्मार्टफोन से कैब बुक करवा ली. ड्राइवर 10.20 बजे पहुंचा और वह तुरंत वह वहां से घर के लिए चल पड़ी.

महिला का कहना है कि उसे नींद आ गई और जब उसकी आंख खुली तो देखा कि ड्राइवर पिछली सीट पर उसके साथ छेड़छाड़ कर रहा है. उसने उसे एक तरफ धकेला और आसपास देखा. उसने मुझे थप्पड़ मारे. मैंने चीखने की कोशिश की तो उसने मेरा मुंह दबा दिया और जान से मारने की धमकी दी.

उसने कहा, ‘सरिया घुसा दूंगा पेट में अगर चिल्लाई तो.’ मैं उसके सामने गिड़गिड़ाई की प्लीज ऐसा कुछ मत करना. इसके बाद उसने रेप किया. इस दौरान ड्राइवर ने उसका फोन लिया और अपने नंबर पर मिस्ड कॉल मारी. ड्राइवर ने कहा कि अब मेरे पास तुम्हारा फोन नंबर है और अगर इस बारे में किसी को बताने की कोशिश की तो मार डालूंगा. इसके बाद उसने कहा कि चुपचाप बैठी रहो. ड्राइवर ने महिला को उसके घर के पास ड्रॉप किया और चला गया.

महिला थोड़ी होश में थी और उसने भागती हुई कैब की तस्वीर ले ली. उसने तुरंत अपने दोस्तों को आपबीती बतानी चाही. महिला ने बताया, ‘मैंने उस दोस्त को मेसेज करके बताना चाहा कि मेरे साथ क्या हुआ है, जिसे मैंने कैब में बैठने से पहले कॉल किया था. मैंने लिखा- कैब ड्राइवर ने मेरा रेप किया है. मगर वह मेसेज दोस्त के बजाय कैब ड्राइवर को चला गया, क्योंकि उसने हाल ही में अपने नंबर पर मिस कॉल दी थी.’ इसके बाद कैब ड्राइवर ने कॉल बैक किया और कहा कि तुम मरना चाहती हो क्या? इसके बाद मैंने सॉरी कहा और कॉल काटकर वहां से चली गई.

इसके बाद महिला ने 100 नंबर पर फोन किया तो पीसीआर वहां पर आई. फिर स्थानीय पुलिस ने महिला पुलिसकर्मियों को वहां भेजा, जहां से उसे सरकारी हॉस्पिटल में मेडिकल के लिए ले जाया गया. इस बीच पीड़िता के परिजनों को इन्फॉर्म कर दिया गया. सूत्रों के मुताबिक विक्टिम अपने पैरंट्स की इकलौती बेटी है और विदेश में किसी कंपनी के लिए काम करने के बाद हाल ही में भारत शिफ्ट हुई है. उसने विदेश की ही किसी यूनिवर्सिटी से एम. कॉम की है और अपने माता-पिता के साथ ही रहती है.

महिला की शिकायत के आधार पर पुलिस ने रेप, अपहरण और हमले का केस रजिस्टर किया है. महिला एनजीओ काउंसलर्स के सामने महिला का बयान दर्ज किया गया और आरोपी को पकड़ने के लिए अभियान छेड़ दिया गया. इस काम के लिए 12 टीमों का गठन किया गया है. कैब कंपनी को फोन करके डॉक्युमेंट्स हासिल किए गए और आरोपी के घर पर छापा मारा गया, मगर वह वहां पर नहीं मिला. इसके बाद मथुरा से वारदात में इस्तेमाल कैब बरामद कर ली गई.

रविवार सुबह खबर आई थी कि पुलिस ने आरोपी को मथुरा में पकड़ लिया है, मगर अब पुलिस का कहना है कि अभी तक आरोपी गिरफ्त से बाहर है. इससे पहले जिस शख्स को पुलिस ने कैब ड्राइवर शिव कुमार यादव समझकर अरेस्ट किया था, वह कोई और निकला. पुलिस ने जब छानबीन की तो मालूम हुआ कि हिरासत में लिया गया शख्स कैब ड्राइवर नहीं, बल्कि कोई और है.

डीसीपी नॉर्थ मधुर वर्मा ने कहा, ‘महिला ने उबर पर टैक्सी बुक करवाई थी. कंपनी की तरफ से भी लापरवाही बरती गई है क्योंकि उन्होंने न तो ड्राइवर को वेरिफाई किया था और न ही कैब में जीपीएस डिवाइस लगाया था.’ टैक्सी सर्विस ऊबर ने इस घटना पर बयान जारी किया है. कंपनी ने कहा है कि उसने आरोपी ड्राइवर को सस्पेंड कर दिया है वह पुलिस की पूरी मदद कर रही है.

बहरहाल, इस घटना ने एक बार फिर दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा पर बहस छेड़ दी है. साल 2012 में निर्भया के साथ हुए गैंगरेप से दिल्ली समेत पूरा देश दहल गया था. नैशनल क्राइम रेकॉर्ड्स ब्यूरो के आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में हर दिन रेप की 4 घटनाएं होती हैं.

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Facebook Comments

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Visit Us On TwitterVisit Us On FacebookVisit Us On YoutubeVisit Us On LinkedinCheck Our FeedVisit Us On Instagram