Home खेल बहुत ही बेहतरीन किरदार है मेरा – किशोरी शहाणे

बहुत ही बेहतरीन किरदार है मेरा – किशोरी शहाणे

मराठी और हिंदी फिल्मों की लोकप्रिय अभिनेत्री किशोरी शहाणे के नाम और चेहरे से आप सब परिचित है. किशोरी ने अब तक ६५ मराठी फिल्मों , अनेकों हिंदी फिल्मों और धारावाहिकों में अभिनय किया है. इस समय किशोरी फिर से चर्चा में हैं क्योंकि एक तो स्टार प्लस पर उनका धारावाहिक “एवरेस्ट” प्रसारित हो रहा है जिसमें वो माँ के किरदार में हैं. इसके अलावा जल्दी ही उनकी फिल्म “बदलापुर बॉयज” रिलीज़ होने वाली है. इस फिल्म में भी वो नायक की माँ बनी हैं. कर्म मूवीज़ द्वारा निर्मित फ़िल्म “बदलापुर बॉयज ” कबड्डी के खेल पर बनी है. पिछले दिनों किशोरी से बात हुई उनकी इसी फिल्म के बारे में..

 

फिल्म “बदलापुर बॉयज” बारें में बताइये ?
यह फिल्म कबड्डी के खेल पर आधारित है. हमारे देश का बहुत ही पुराना खेल है यह, लेकिन अब हम सब लोग जाग रहे हैं. अब बड़े- बड़े टूर्नामेंट भी हो रहे हैं और फ़िल्में भी बन रही हैं. कर्म मूवीज़ के बैनर में बनी है फ़िल्म “बदलापुर बॉयज ” निर्देशक हैं शैलेश वर्मा. मेरे साथ इस फिल्म में अभिनेता निशान, सरन्या मोहन, पूजा गुप्ता, अन्नू कपूर, बोलोराम दास, नितिन जाधव, शशांक उदयपुरकर, मज़हर खान, अंकित शर्मा और विनीत आदि कलाकार हैं.Kishori Shahane

आपकी क्या भूमिका है ?
मैं फिल्म के नायक निशान की माँ बनी हूँ.बहुत ही सशक्त भूमिका है मेरी, पति की मृत्यु के बाद किस तरह अकेले बच्चे को पालती है और उसे सही राह दिखाती है. इस तरह की भूमिका बहुत दिनों के बाद मैंने किसी हिंदी फिल्म में अभिनीत की है.

क्या आपको लगता है दर्शक इस फिल्म को पसंद करेगें ?
हाँ मुझे लगता तो है क्योंकि अभी पिछले दिनों जितनी भी स्पोर्ट्स पर आधारित फ़िल्में आयी हैं दर्शकों ने उन्हें पसंद किया है चाहे वो “भाग मिल्खा भाग” हो या मैरी कॉम हो. और फिर इस खेल को तो हम सबने एक बार जरूर ही खेला होगा. तो यह फिल्म भी दर्शक पसंद करेगें.

आपका धारावाहिक ‘एवरेस्ट’ भी दर्शक पसंद कर रहे हैं ?
हाँ अच्छा लगता है जब दर्शक आपके काम को पसंद करते हैं. अच्छा धारावाहिक बनाया है आशुतोष गावरीकर ने.

आपने मिसेज़ ग्लैडरेग्स प्रतियोगिता हिस्सा लिया था ?
हाँ २००३ में मैंने इसमें हिस्सा लिया और रनर अप भी रही. मैंने अपने कालेज के दिनों में मिस मीठी बाई ब्यूटी पैजेंट का क्राउन जीता था.

आप फ़िल्में करती हैं थियेटर और टी वी भी करती हैं कैसे कर पाती हैं इतना सब ?
आप डांसर भी हैं ? जहाँ चाह होती है वहां राह मिल ही जाती है. तो हो जाता है सब मैनेज.

Facebook Comments
(Visited 32 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.