Home गौरतलब सेना के टैंक हादसे के शिकार, कोई हताहत नही..

सेना के टैंक हादसे के शिकार, कोई हताहत नही..

-चन्दनसिंह भाटी||

बाड़मेर/बायतु उपखंड क्षेत्र में भारतीय सेना के दो टैंक आज अभ्यास के दौरान अलग-अलग हादसों के शिकार हो गए. हादसे के शिकार हुए इन टैंको में सभी सेना के जवान सुरक्षित हैं. कोई जानमाल का नुकसान नही हुआ .IMG-20141116-WA0008

प्राप्त जनकारी के अनुसार रविवार को सेना का एक टैंक टाकें मे गिरा तो दूसरा रेतीले धोरे पर ऊपर चढ़ते समय पलट गया बायतु क्षेत्र के कोलू गांव मे एक सेना का टैंक टांके मे गिरा और दूसरा पनावड़ा क्षेत्र मे पहाड पर चढते समय पलट गया जिससे गनीमत रही कि कोई अप्रिय घटना नही होने की सूचना है.

पहला हादसा
रविवार को कोलू गांव के धतरवालों का तला क्षेत्र में हुआ जहा सेना का एक टैंक अभ्यास के दौरान खेत में बने पानी के टांके में गिर गया. बताया जाता हैं कि टैंक से पानी के टांके को भारी नुकसान हुआ हैं. लेकिन इस घटना में टैंक में सवार भारतीय सेना के जवान सुरक्षित हैं. कोई जानमाल का नुकसान नही हुआ .

खबर फैली पहुंचे ग्रामीण
इस घटना की खबर आसपास के इलाके में फैलते ही भरी संख्या में ग्रामीण मौके पर जमा हो गए. ऐसा बताया जा रहा हैं कि ग्रामीणों की मदद से टैंक को टांके से बाहर निकलवाया गया .IMG-20141116-WA0009

दूसरा हादसा
रविवार की सुबह पनावड़ा गांव के बांडी धोरा क्षेत्र में हुआ यहाँ भारतीय सेना का एक टैंक इस क्षेत्र के सबसे ऊँचे रेतीले धोरे पर चढ़ने का अभ्यास कर रहा था कि अचानक उसका संतुलन बिगड़ गया. जिससे टैंक धोरे से नीचे पलट गया. गनीमत रही कि यहाँ भी सेना को कोई भारी नुकसान नही हुआ.

क्षेत्र का सबसे ऊँचा टीला
गौरतलब हैं की यह बांडी धोरा बायतु क्षेत्र का सबसे उंचा रेतीला टीबा हैं. इस धोरे पर हर साल भारतीय सेना सर्दियों में होने वाले अभ्यास के दौरान टीले की ऊंचाई ज्यादा होने के कारण ऊपर राडार और अन्य कई तरह के उपकरणों को तैनात करती हैं.

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.