Home खेल 2011 वर्ल्ड कप टीम का एक सदस्य था सटोरियों के संपर्क में..

2011 वर्ल्ड कप टीम का एक सदस्य था सटोरियों के संपर्क में..

क्रिकेट की दुनिया में सनसनी मचाने वाले स्पॉट फिक्सिंग पर बड़ा राज फ़ाश हुआ है. केस की जांच कर रही जस्टिस मुद्गल ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट को अपनी जांच रिपोर्ट सौंपी है.Mukul-Mudgal

रिपोर्ट के मुताबिक मुद्गल कमेटी की रिपोर्ट में इस बात का जिक्र है कि 2011 वर्ल्ड कप टीम का एक सदस्य था सटोरियों के संपर्क में, हालांकि अब वह खिलाड़ी अब भारतीय टीम का हिस्सा नहीं. जस्टिस मुदगल ने अपनी रिपोर्ट में किसी खिलाड़ी पर बुकी कनेक्शन, स्पॉट फिक्सिंग या मैच फिक्सिंग में शामिल होने का आरोप नहीं लगाया है लेकिन कुछ इशारे किए हैं बड़े गंभीर जान पड़ते है.

रिपोर्ट में उस खिलाड़ी के बुकी लिंक का जिक्र किया गया है जो 2011 में विश्व कप जीतने वाली टीम में शामिल था. वो खिलाड़ी टीम इंडिया में नियमित रूप से नहीं खेलता लेकिन पिछले साल आईपीएल की नीलामी में उसकी मोटी बोली लगी थी.

गौर हो कि आईपीएल-6 स्पॉट फिक्सिंग और सट्टेबाजी मामले में जस्टिस मुकुल मुद्गल कमेटी ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में जांच रिपोर्ट पेश कर दी. जांच के घेरे में आईसीसी के चेयरमैन और बीसीसीआई के निर्वासित अध्यक्ष एन श्रीनिवासन भी है. उनके अलावा और भी कई बड़ी हस्तियां इस घेरे में हैं. जांच पर अगली सुनवाई 10 नवंबर पर होगी जिस पर सबकी नजरें लगी हुई हैं. जानकारी के अनुसार बंद लिफाफे में अंतिम रिपोर्ट को सौंपा गया.

गौर हो कि स्पॉट फिक्सिंग मामले में महेंद्र सिंह धोनी और सुरेश रैना से भी पूछताछ हुई है. मामले की जांच कर रही जस्टिस मुद्गल कमेटी ने धोनी से चार और रैना से तीन घंटे सवाल-जवाब किया. गौरतलब है कि समिति ने इस साल के शुरुआत सुप्रीम कोर्ट को 12 क्रिकेटरों और अधिकारियों के नाम बंद लिफाले में सौंपे थे. सूत्रों के मुताबिक मुंबई की फोरेंसिक लैब में मयप्पन और विंदू दारा सिंह के बीच बातचीत का जो कथित टेप सामने आया है वो श्रीनिवासन के दामाद मयप्पन की ही है.

Facebook Comments
(Visited 1 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.