/* */

MI3 निर्माता क्सिओमी चाइना भेज रहा है आपका निजी डाटा, फ्लिपकार्ट भी संदेह के घेरे में..

Desk
Page Visited: 12
0 0
Read Time:4 Minute, 30 Second

फ्लिपकार्ट द्वारा भारत में लांच किये गए बेहद चर्चित फोन MI3 के निर्माता  क्सिओमी के सभी फोन हाल फ़िलहाल विवादों में घिरते नज़र आ रहे हैं. कई वेबसाइट्स ने शिकायत की है कि क्सिओमी फोन के ज़रिये डाटा चाइना स्थित क्सिओमी के अज्ञात सर्वर पर भेजा जा रहा है. ये आरोप बेहद गंभीर हैं और ये निजता में सेंध लगाने का मामला हो सकता है. पहले पहल तो ये खबर कुछ अख़बारों अपुष्ट रूप से शक के आधार पर छपी लेकिन बाद में विशेषज्ञों ने इसे टेस्ट कर के इसका पुष्टिकरण कर दिया.xiaomi-phones-security-issue

 

हाल में F-Secure  के विशेषज्ञों ने इसे जांचने का निर्णय लिया. रिपोर्ट्स के अनुसार क्सिओमी के फोन काफी सारा निजी और संवेदनशील डाटा अपने चाइना स्थित अज्ञात सर्वर को भेजते हैं और उनके साथ क्या किया जाता है इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है. क्सिओमी के फोन से उसके सर्वर को डाटा के नाम पर कई महत्वपूर्ण और निजी जानकारी भेजी जा रही है जैसे आपके फोन का IMEI नंबर, IMSI नंबर, आपकी कांटेक्ट डिटेल्स और आपके टेक्स्ट मैसेज. ये बात काबिल-ए-गौर है कि ये सभी डाटा पूर्व स्थापित एप्लीकेशन के माध्यम से किया जा रहा है और इसके लिए यूजर की परमिशन के लिए पूछा भी नहीं जाता. ये सभी टेस्ट क्सिओमी के MI3 रेड  पर किये गए. हालाँकि सभी फोन की कार्य प्रणाली ऐसी ही है. ये सारा डाटा  api.account.xiaomi.com. पर भेजा जा रहा है.

चाइना इसके पहले भी डाटा के चोरी के मामले में फंस चुका है. उस के ऊपर पहले भी डिजिटल स्पाई होने का आरोप लगता रहा है और चाइना में बने सिम कार्ड के साथ ऐसा सिद्ध भी हो चुका है कि वो डाटा चाइना भेजते रहे हैं. निश्चय ही किसी की निजता एक महत्वपूर्ण मुद्दा है. ऐसे में ये MI3 और अन्य क्सिओमी  फोन कटघरे में खड़े दिखते हैं.  याद होगा आपको कि ये क्सिओमी के फोन ही थे जिन्हें एप्पल के समकक्ष आँका गया था और चाइनीज़ एप्पल भी कहा गया था.

10602816_527738270691825_1352983794_n

भारत में क्सिओमी के  MI3 फोन को लांच करने वाले फ्लिपकार्ट की भी इसमें भूमिका संदेहास्पद कही जा सकती है. फ्लिपकार्ट ने क्सिओमी के फोन की लॉन्चिंग बेहद बड़े स्तर पर और खूब प्रचार प्रसार के साथ की थी.  इसके साथ ही फ्लिपकार्ट ने क्सिओमी के  अन्य मॉडल भी लांच किये थे . अगर फ्लिपकार्ट जानता था कि  ये फोन इस तरह से बर्ताव करते हैं तो उसने इन्हें भारत में उतार कर सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया है. और अगर नहीं जानता था तो उसने सिर्फ मुनाफाखोरी के लिए अपनी गंभीर विक्रेता की छवि के साथ अन्याय किया है. चाइना के सामान के अलावा स्वयं चाइना की व्यवस्था के बारे में निजता के हनन को लेकर सवाल उठते रहे हैं. ऐसे में फ्लिपकार्ट से अतिरिक्त सावधानी की उम्मीद थी लेकिन फ्लिपकार्ट ने छवि के अनुरूप व्यवहार नहीं किया है. गौरतलब है कि भारत में MI3 फोन हजारों की संख्या में बिक चुका है और हजारों की संख्या में प्री-बुकिंग हो चुकी है. इसलिए इस समस्या के ऊपर क्सिओमी और फ्लिपकार्ट दोनों को एक आधिकारिक बयान जारी कर के सफाई देनी चाहिए और इस मामले में सरकार के हस्तक्षेप की भी उम्मीद है.

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Facebook Comments

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

भाई बहिन के प्यार पर लगा है सीमाओं का पहरा..

भारत में रह रहे भाई व बहिन अपने पाकिस्तान में निवासरत भाई बहिनों से दूर है इस पावन त्यौहार पर.. […]

आप यह खबरें भी पसंद करेंगे..

Visit Us On TwitterVisit Us On FacebookVisit Us On YoutubeVisit Us On LinkedinCheck Our FeedVisit Us On Instagram