/* */

बहनों की राखियों का हुआ असर, झुंझुनू आए रेलवे के डिप्टी चीफ इंजीनियर ओ. पी. मीणा को झेलना पड़ा जनाक्रोश

Page Visited: 25
0 0
Read Time:4 Minute, 33 Second

रमेश सर्राफ ||

शेखावाटी रेल विकास संघर्ष समिति के महिला प्रकोष्ठ की सदस्यों द्वारा मंगलवार को राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, रेलमंत्री व रेलवे के शीर्ष अधिकारियों को भेजी गई राखियों का असर गुरूवार को झुंझुनू रेलवे स्टेशन पर दिखाई दिया। ट्रेन चलने में देरी को लेकर जनता में बढ़ते आक्रोश को देखते हुए सीकर-लुहारू ब्रॉडगेज परियोजना के डिप्टी चीफ इंजीनियर ओ. पी. मीणा अपने मातहत अधिकारियों के साथ गुरूवार को सुबह झुंझुनू रेलवे स्टेशन का निरीक्षण करने पहुंचे।07-08-14 rail jjn

इस बात की भनक लगते ही शेखावाटी रेल विकास संघर्ष समिति के अध्यक्ष प्रदीप अग्रवाल के नेतृत्व में समिति के पदाधिकारी व कार्यकर्ता स्टेशन पर एकत्रित हो गए। लोगों की भीड़ देखकर मीणा अधिकारियों के साथ स्टेशन की छत पर चढक़र छिप गए। काफी देर इंतजार करने के बाद भी वे जब छत से नहीं उतरे तो समिति अध्यक्ष प्रदीप अग्रवाल छत पर पहुंच गए और अधिकारियों से नीचे उतर कर जनता के सवालों का जवाब देने की मांग की लेकिन वे टाल-मटोल करने लगे। इस पर समिति के अन्य कार्यकर्ता भी छत पर आने लगे। मामला बिगड़ता देखकर डिप्टी चीफ इंजीनियर व अन्य अधिकारी नीचे आए।

अधिकारियों के नीचे आते ही समिति अध्यक्ष व कार्यकर्ता ने सवालों की बौछार शुरू कर दी। मीणा लोगों का गुस्सा देखकर सकपका गए और मीठी-मीठी बातों से मामला शांत करने की कौशिश की लेकिन समिति अध्यक्ष प्रदीप अग्रवाल, समिति के महिला प्रकोष्ठ की संयोजक तेजस्विनी शर्मा,अजय कुमावत, संजय सोनी, मनीष बगडिया, रोहिताश्व कुमार बंसल, जयराज जांगिड़, मयंक आर्य, राजेश पाटोदिया, दिनेश वशिष्ठ, मोबाराम कुमावत,रामनिवास शर्मा व दिलदार हाजी मोहम्मद तथा रेलयात्री ट्रेन चलाने की तिथि बताने की बात पर अड़ गए। इस बात को लेकर काफी जिद्द-बहस हुई। मामला बिगड़ता देख मीणा ने बताया कि अभी सीकर-लुहारू ब्रॉडगेज रेल परियोजना के तहत बुहाना, सूरजगढ़, चिड़ावा एवं डूंडलोद-मुकुन्दगढ़ रेलवे स्टेशनों पर रेलवे अंडर ब्रिज का निर्माण कार्य चल रहा है जो इस साल दिसम्बर के अंत तक पूरा होगा। इसके बाद रेलवे के सुरक्षा आयुक्त का दौरा होगा। सभी कार्य संतोषजनक होने के बाद रेल चलाने की कार्यवाही संभव होगी।

इस पर समिति अध्यक्ष ने डिप्टी चीफ इंजीनियर से पूछा की हमारी सांसद संतोष अहलावत ने हाल ही आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में बयान दिया है कि सीकर-लुहारू ब्रॉडगेज रेलवे ट्रैक पर इस साल नवम्बर तक ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया जायेगा। वें यह बात कैसे कह रही है? इस पर मीणा ने कहा कि सांसद इस मामले में क्या बयान दे रही है, इसका उन्हें पता नहीं है। वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए नहीं लग रहा है कि इस साल ट्रेनों का संचालन शुरू हो पायेगा। मीणा ने समिति के प्रतिनिधिमण्ड़ल को आश्वस्त किया कि वें ब्रॉडगेज कार्य को जल्द से जल्द पूरा करवाने के प्रयासों को और तेज करेंगे ताकि ट्रेनों के अभाव में लोगों को हो रही परेशानी दूर हो सके।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Facebook Comments

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this:
Visit Us On TwitterVisit Us On FacebookVisit Us On YoutubeVisit Us On LinkedinCheck Our FeedVisit Us On Instagram