Home मीडिया राहुल ने नहीं बनने दिया था सोनिया को PM..

राहुल ने नहीं बनने दिया था सोनिया को PM..

एक तेज-तर्रार नौकरशाह, कभी गांधी परिवार के बेहद करीबी और फिर कांग्रेस से निष्कासित नटवर सिंह ने अगले महीने आने वाली अपनी किताब में कुछ अहम खुलासे किए हैं। नटवर सिंह ने न्यूज चैनल ‘हेडलाइंस टुडे’ को दिए इंटरव्यू में अपनी किताब के कुछ अंशों का खुलासा करते हुए बताया कि 2004 में सोनिया गांधी के पीएम नहीं बनने की सबसे बड़ी वजह राहुल गांधी थे। कुछ ऐसे ही खुलासों को लेकर नटवर सिंह की आने वाली आत्मकथा ‘वन लाइफ इज़ नॉट एनफ’ काफी चर्चाओं में है।After-Baru’s-book-Natwar-Singh-’s-revelations-may-rock-Congress

नटवर सिंह ने खुलासा किया है कि राहुल गांधी को डर था अगर उनकी मां सोनिया, दादी इंदिरा गांधी और पिता राजीव गांधी की तरह पीएम बनीं, तो उनकी भी हत्या कर दी जाएगी। यही वजह थी कि राहुल गांधी ने बेटा होने की दुहाई देते हुए सोनिया को पीएम नहीं बनने दिया।

नटवर सिंह ने बताया कि राहुल गांधी ने अपनी मां सोनिया गांधी को सोचने के लिए 24 घंटों का समय दिया था। हालांकि राहुल बेटे के तौर पर अपना निर्णय पहले ही सुना चुके थे। आखिरकार सोनिया गांधी को भी राहुल की यह अपील माननी पड़ी।

नटवर सिंह ने इंटरव्यू में बताया कि उन्हें इस बात की जानकारी थी। इसलिए प्रियंका गांधी उनसे मिली थीं और अनुरोध किया था कि वह राहुल गांधी के सोनिया गांधी को पीएम पद न स्वीकारने वाली बात को किताब से हटा दें। नटवर सिंह का दावा है कि राहुल और सोनिया गांधी ने भी उनसे ऐसा ही अनुरोध किया था।

‘सोनिया गांधी की पहुंच सरकारी फाइलों तक’

कभी मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार रहने वाले संजय बारू ने अपनी किताब ‘द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर: द मेकिंग ऐंड अनमेंकिंग ऑफ मनमोहन सिंह’ में खुलासा किया था सोनिया ही असल में सरकार चला रही थीं। इंटरव्यू में नटवर सिंह ने भी कहा है कि सोनिया गांधी की पहुंच सरकारी फाइलों तक थी।

‘कांग्रेस पर सोनिया का नियंत्रण इंदिरा से भी ज्यादा’

नेहरू और इंदिरा के करीबी और राजीव गांधी के मित्र रहे नटवर सिंह ने बताया कि जब वह पार्टी में थे तो सोनिया गांधी का कांग्रेस पर पूरा नियंत्रण था। सोनिया गांधी ने कभी इंटेलेक्चुअल होने का दावा नहीं किया, लेकिन उनके शब्द ही पार्टी के लिए कानून थे। नटवर सिंह ने कहा कि कई मायनों में कांग्रेस पर सोनिया का नियंत्रण इंदिरा गांधी से भी ज्यादा था और वह इंदिरा से भी ज्यादा ताकतवर नजर आती थीं।

‘राजीव गांधी से बेहतर नेता हैं सोनिया’

पहली बार राजीव गांधी सरकार में मंत्री बनने वाले नटवर सिंह ने कहा कि सोनिया गांधी राजीव से भी बेहतर नेता हैं। नटवर सिंह का दावा है कि वह किसी पुरानी कटुता की वजह से किताब नहीं लिख रहे हैं, बल्कि उनकी किताब तथ्यों पर आधारित है।

‘लालू दुखी थे मनमोहन सिंह के पीएम बनने पर’

हेडलाइंस टुडे को दिए इंटरव्यू में नटवर सिंह ने मनमोहन सिंह के पीएम बनने की कहानी का भी जिक्र किया। नटवर ने बताया कि सोनिया गांधी के इनकार के बाद मनमोहन सिंह को पीएम बनाया जाना तय हुआ था। हालांकि मनमोहन सिंह भी इसके लिए राजी नहीं थे। मनमोहन सिंह का मानना था कि पार्टी के पास सरकार बनाने लायक बहुमत नहीं है। नटवर सिंह ने बताया कि मनमोहन सिंह के पीएम बनने से लालू प्रसाद यादव भी दुखी हुए थे।

Facebook Comments
(Visited 1 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.