Home देश राहुल गांधी बोले देश बचाना है तो कांग्रेस को जिताना होगा..

राहुल गांधी बोले देश बचाना है तो कांग्रेस को जिताना होगा..

-रमेश सर्राफ धमोरा||
झुंझुनू, कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेन्द्र मोदी पर प्रहार करते हुये कहा कि कांग्रेस सब की राजनीति करना चाहती है व भाजपा नेता चुने हुये एक व्यक्ति की राजनीति की बात करते है. कांग्रेस गरीबों को अधिकार देने में विश्वास करती है. भाजपा सत्ता के केन्द्रीयकरण में विश्वास करती है. राहुल गांधी आज झुंझुनू में कांग्रेस प्रत्याशी राजबाला ओला के समर्थन में एक चुनावी सभा को सम्बोधित कर रहे थे.10-04-14 RAHUL-1

राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस कमजोर, गरीबों किसानो की पार्टी है. केन्द्र में कांग्रेस नीत यूपीए गठबंधन की सरकार के पिछले दस वर्षों के शासनकाल में देश के 15 करोड़ गरीबों को गरीबी रेखा से निकाल कर उनका जीवन स्तर उपर उठाया है. कांग्रेस पार्टी हमेशा जोडऩे में विश्वास करती है. कांग्रेस ने देश की जनता को रोजगार का अधिकार दिया जिसमें देश के हर नागरिक को साल में 100 दिन रोजगार उपलब्ध करवाने की जिम्मेदारी सरकार की है. भोजन का अधिकार,सूचना का अधिकार दिया जबकि भाजपा की राजस्थान सरकार ने तो कांग्रेस सरकार के समय शुरू की गयी मुफ्त दवा योजना तक को बन्द कर यहां की जनता के हितो पर कु ठाराघात किया है. हमने हमारे चुनाव घोषणापत्र में हर गरीब परिवार को सरकार की तरफ से छत व बुजुर्गों को पेंशन देने की गारंटी की बात कही है.

उन्होने कहा कि नरेन्द्र मोदी देश में गुजरात माडल लेकर घूम रहें हैं,जबकि गुजराज में आज तक सूचना आयुक्त व लोकपाल तक की नियुक्ति नहीं की गयी है. वे किस मुंह से गुजरात की बात करते हैं. भाजपा नेता कहते हैं कि आप मुझे देश के खजाने का चोकीदार बना दो मैं खजाने की रखवाली करूंगा जबकि कांग्रेस देश के खजाने का रखवाला करोड़ो देशवासियों को बनाना चाहती है ताकि खजाने पर किसी एक का कब्जा नहीं होने पाये. सैनिक बहुल जिले झुंझुनू में पूर्व सैनिकों को आकर्षित करते हुये उन्होने कहा कि हमने पूर्व सैनिकों की वर्षो से एक रैंक एक पेंशन की मांग को सरकार से स्वीकृत करवाकर देश के करोड़ों सैनिक परिवारों को लाभ पहुंचाया है.

राहुल गांधी ने भाजपा पर प्रहार करते हुये कहा कि भाजपा भ्रष्टाचार की बात करती है जबकि सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार तो भाजपा शाािषत राज्यों में होता है. भाजपा को कर्नाटक में येदुरप्पा का भ्रष्टाचार याद क्यों नहीं आता है. भ्रष्टाचार के आरोपी येदुरप्पा को तो भाजपा के बड़़ेे नेता अपने साथ सार्वजनिक मंचो पर बिठाते है और भ्रष्टाचार पर बड़ी-बड़ी बातें करतें हैं. छत्तीसगढ़ में सरकार के मंत्री खान माफियाओं के साथ मिलकर कितना भ्रष्टाचार कर रहें हैं,इसका उनके पास कोई जवाब नहीं हैं. मध्यप्रदेश सरकार आकंठ भ्रष्टाचार में डूबी हुयी है. उन्होने कहा कि कांग्रेस ने संसद से लोकपाल बिल को पास करवाया भाजपा ने तो बिल को पास नहीं होने देने के लिये संसद में काफी अडंगे लगाये थे मगर कांग्रेस ने लोकपाल बिल को पास करवाकर ही दम लिया.

राहुल गांधी ने कहा कि हमने छ: महिनों से आम जनता की राय लेकर पार्टी का चुनावी घोषणापत्र बनाया था. भाजपा ने हमारे घोषणापत्र से हाथ का निशान हटाकर कमल का निशान लगा कर उसे अपना बता कर जारी कर दिया. भाजपा ने हमारे चुनाव घोषणा पत्र की हूबहू नकल की है. इससे प्रतीत होता है कि भाजपा के पास ना कोई सोच है ना कोई दृष्टिकोण. भाजपा वाले सिर्फ बड़ी-बड़ी बातो से सत्ता हासिल करने का सपना देख रहें हैं. उन्होने कहा कि हमारे में व भाजपा वालों में बड़ा फर्क हैं. हम गांव,गरीब की बात करते हैं. पंचायत राज को बढ़ावा देने की बात करते हैं. भाजपा की सोच ऐसी नहीं हैं.

दिवगंत शीशराम ओला की तारीफ करते हुये कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि उन्होने ओला जी से राजनीति सीखी है. ओला जी जब भी मुझ से मिलने आते मुझे राजनीति का पाठ पढ़ाते थे. शीशराम ओला जब भी मुझसे मिलते हर बार झुंझुनू,नहर,पानी,राजस्थान की बात किया करते थे. उनकी सोच में हमेशा विकास की ही बाते होती थी. ओला जी से मेरा गहरा लगाव था. वो महिला शिक्षा के अग्रदूत थे. उन्होने सदैव कांग्रेस को मजबूत किया है. आज उनकी कमी हमें महसूस होती है.

राहुल गांधी ने कहा कि आज देश के सामने गंभीर चुनौतिया मुंह बाये खड़ी है,ऐसे में हमें देश को बचाना है तो कांग्रेस को मजबूत करना होगा. उन्होने झुंझुनू से कांग्रेस प्रत्याशी राजबाला ओला को भारी बहुमत से जिताने की अपील की. सभा को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व केन्द्रीय मंत्री सचिन पाईलेट,कांग्रेस प्रत्याशी डा.राजबाला ओला ,झुंझुनू विधायक बिजेन्द्र ओला ने भी सम्बोधित किया.

राहुल गांधी की सभा में लोगों की कम उपस्थिति चर्चा का विषय बनी रही. कांग्रेस में सबसे बड़े नेता राहुल गांधी ही है और उनकी सभा में लोगों का कम आना कांग्रेस के लिये सुखद संकेत नहीं माना जा सकता है. गत दिनो झुंझुनू में भाजपा प्रत्याशी संतोष अहलावत के पक्ष में मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे की सभा में लोगों की उपस्थिति राहुल गांधी की सभा से अधिक रही थी. राहुल गांधी की सभा में महिलाओं की उपस्थिति भी नाममात्र की ही रही तथा मुस्लिम समुदाय के लोगो ने भी सभा से दूरी बनाये रखी जिससे लोगो ने कयास लगाना शुरू कर दिया है कि यदि कांग्रेस की स्थिति कमजार रहती है तो मुस्लिम मतदाता भाजपा को हराने के लिये अंतिम वक्त पर निर्दलिय प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ रहे नवलगढ़ के विधायक डा.राजकुमार शर्मा की तरफ झुकाव कर ले तो कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी.

Facebook Comments
(Visited 5 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.