रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया की यूपी कैबिनेट में वापसी…

admin 3

उत्तर प्रदेश के डीएसपी जिया-उल-हक की हत्या के मामले में सीबीआई की क्लीन चिट मिलने के बाद बाहुबलि की छवि रखने वाले नेता और निर्दलीय विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया की यूपी कैबिनेट में आज वापसी हो गई है.Raja-Bhaiyya

राज भवन में हुए शपथ ग्रहण समारोह में राजा भैया ने मंत्रिपद की शपथ ली. शपथ लेने के बाद राजा भैया ने मुलायम सिंह को धन्यवाद दिया.

हत्या के आरोप के बारे में उन्होंने कहा कि उन्हें गलत आरोप लगाकर फंसाने की कोशिश की गई थी.

उल्लेखनीय है कि इसी वर्ष मार्च में कुंडा के वलीपुर गांव में ग्राम प्रधान नन्हें यादव की हत्या के बाद हुए बवाल को रोकने गए सीओ जियाउल हक की हत्या कर दी गई थी.

सीओ की पत्नी परवीन आजाद ने तत्कालीन जेल मंत्री एवं कुंडा के विधायक राजा भैया पर हत्या करवाने का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ मामला दर्ज कराया था. हत्या में नाम आने के बाद राजा भैया ने खुद को निर्दोष बताते हुए मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था.

अखिलेश सरकार ने हत्याकांड की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने के आदेश दिए थे. सीबीआई ने जांच के बाद राजा भैया को क्लीन चिट दे दी.

गौरतलब है कि सपा के दिग्गज नेता आज़म खान कुछ दिनों पहले राजा भैया से मिले थे और मुजफ्फरनगर बलवे से नाराज़ ठाकुर समुदाय की नाराज़गी दूर करने के लिए राजा भैया से मदद मांगी थी. माना जा रहा है कि रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया को मंत्री बनाने की कसरत इसी सन्दर्भ में हुई है.

Facebook Comments

3 thoughts on “रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया की यूपी कैबिनेट में वापसी…

  1. देश का दुर्भाग्य ही है की ऐसे दागी लोग जिस कारण कैबिनेट से बाहर होते हे लगभग उन्ही कारणों से अन्दर आ जाते हैं.राजा भैया के बिना सरकार का ऐसा कौन सा काम है जो नहीं हो सकता,पर मुलायम की मजबूरी है की उनका गुंडाराज इनके बिना नहीं चल सकता इसलिए यह फिर मंत्री पद से नवाजे गयें गए है.लगभग सभी पार्टीज क सफ़र तय कर चुके राजा भैया की ताकत इस की ही मिसाल है.

  2. देश का दुर्भाग्य ही है की ऐसे दागी लोग जिस कारण कैबिनेट से बाहर होते हे लगभग उन्ही कारणों से अन्दर आ जाते हैं.राजा भैया के बिना सरकार का ऐसा कौन सा काम है जो नहीं हो सकता,पर मुलायम की मजबूरी है की उनका गुंडाराज इनके बिना नहीं चल सकता इसलिए यह फिर मंत्री पद से नवाजे गयें गए है.लगभग सभी पार्टीज क सफ़र तय कर चुके राजा भैया की ताकत इस की ही मिसाल है.

  3. एक तीर से कई निशाने ।ठाकुर बिखरते हुये दो विधायकों पर रासुका ।एक पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर एक बङा ठाकुर साथ मतलब चार सांसद सीटों पर प्रचार करने को बढ़िया सहयोगी?? कल?? अगर कुछ अघटित घटा प्रतापगढ़ में तो फिर कोऊ आरोप जङकर कह देगा इस्तीफा दो???? और इधर ठाकुर चौबीसी दंगा पर आंदोलन किये जा रही है उसे ठंडा करना है । इलज़ाम कुछ बङे नामों पर है उनको धोना है । मगर ये देर से किया गया फैसला क्या रंग लायेगा ।।।।कब क्या हो जाये यू पी में बस अल्ला जाने या ईश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

‘फैलिन’ प्रचंड चक्रवाती तूफान में बदल रहा है...

पूर्वी मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर भीषण चक्रवाती तूफान ‘फैलिन’ शुक्रवार को और अधिक तीव्र हो गया और यह कल कम से कम 205 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाओं के साथ ओडिशा में गोपालपुर के नजदीक पहुंच सकता है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने अपने नवीनतम […]
Facebook
escort eskişehir - lidyabet - macbook servis - kabak koyu
%d bloggers like this: