पश्चिमी सरहद की क्षतिग्रस्त तारबंदी घुसपैठियों की मददगार..

admin

पश्चिमी सरहद की क्षतिग्रस्त तारबंदी बनी घुसपैठ का कारण, एक साल में पचास से अधिक घुसपैठ की वारदातें

-चन्दन भाटी||

बाड़मेर भारत पाकिस्तान की पश्चिकी राजस्थान से सटी पाकिस्तान की सीमा पर हाल में हुई घुसपैठ की तीन ताजा घटनाओं के बाद भले ही ज्यादा सतर्कता बरती जा रही हो, लेकिन बीएसएफ राजस्थान फ्रंटियर से सटी सीमा पर गत एक साल में घुसपैठ की पचास से अधिक घटनाएं हो चुकी हैं. शनिवार को बाड़मेर के सरहदी इलाके बाखासर सेक्टर में पाकिस्तानी नागरिक के भारतीय सीमा में घुसाने की घटना ने भी सुरक्षा एजेंसियों की चिंता बढ़ा दी है. यह घुसपैठ बाखासर के उस क्षेत्र में हुई जहाँ तारबंदी नहीं है. नवातला में लम्बे समय से तारबंदी क्षतिग्रस्त पडी है उसे सीमा सुरक्षा बल ठीक करने के प्रस्ताव कई मर्तबा गृह मंत्रालय भारत सरकार को भेजे मगर बजट जारी हुआ ना ही मरम्मत की स्वीकृति ही मिली. जिसके चलते इस क्षेत्र पर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आई एस आई की नज़रे गढ़ी है. यह क्षेत्र काफी संवेदनशील माना जाता है इसके बावजूद घुसपैठ की घटनाओ में इजाफा हो रहा है. इससे पहले बाड़मेर जिले की गडरा सरहद से घुसपैठ की कई वारदाते हो चुकी है.

वही गत 8 अक्टूबर को अटारी सीमा पर सीमेंट की बोगी में 106 किलो हेरोइन व जैसलमेर सेक्टर में दो माह पूर्व लाई गई 8 किलो हेरोइन की घटनाओं को लेकर सुरक्षा व खुफिया एजेंसियां नारको टेरेरिज्म से इनकार नहीं कर रही हैं.  बीएसएफ की गश्त के बावजूद घुसपैठ की घटनाएं लगातार हो रही हैं.

यह बात अलग है कि मुस्तैदी के कारण गत जनवरी से अब तक 50 से अधिक घुसपैठिए पकड़े जा चुके हैं. इनमें सर्वाधिक 35 भारतीय हैं.  इनके अलावा 16 पाकिस्तानी, 3 बांग्लादेशी शामिल हैं जबकि तीन दिन पूर्व एक जना घुसपैठ के प्रयास में मारा गया था.  बाड़मेर के बाखासर में शनिवार को पाक नागरिक भारतीय सीमा में आने के बाद पकड़ा गया राजस्थान से लगती एक हजार किमी लंबी सीमा पर बाड़मेर. जैसलमेर और श्रीगंगानगर सेक्टर में घुसपैठ की घटनाएं ज्यादा हो रही हैं.

गत साल भी भारतीय ज्यादा

पश्चिमी राजस्थान से सटी सीमा पर बीएसएफ ने गत साल कुल 45 घुसपैठियों को पकड़ा था.  इनमें सर्वाधिक 33 भारतीय थे.  इसके अलावा 10 पाकिस्तानी व 2 बांग्लादेशी भी पकड़े जा चुके हैं.  घुसपैठियों के पास से 2 किलो हेरोइन व 2.73 लाख नकली भारतीय नोट मिले थे.  इनसे 32 किलो डोडा पोस्त, 4 पिस्तौल, 33 एम्यूनेशन, 3 मैग्जीन, 1 देशी बंदूक, 129 पाकिस्तानी मुद्रा, 1 साइकिल, 3 मोटरसाइकिल, 5 मोबाइल फोन, 1 कार भी मिली थी.

अन्य सीमांत के मुकाबले कम घुसपैठ

‘बीएसएफ की सतर्कता के कारण ही पश्चिमी सीमा पर घुसपैठिए पकड़े जाते हैं.  वैसे अन्य सीमांत के मुकाबले राजस्थान फ्रंटियर से लगते बॉर्डर पर घुसपैठ की घटनाएं काफी कम हैं. ‘

आरके थापा, डीआईजी (जी), राजस्थान सीमांत

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

दाऊद से विवेकानंद की तुलना भारी पड़ेगी गडकरी को...

पूर्ति पॉवर एंड सुगर लिमिटेड के ज़रिये अपने ड्राइवर से लेकर माली तक को निदेशक बना समाजवाद के मसीहा के रूप में उभरे भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी अब अपराधियों और संतों का आई क्यू स्तर नापने का पैमाना भी बन गए हैं. हाल ही में गडकरी द्वारा स्वामी विवेकानंद और […]
Facebook
escort eskişehir - lidyabet - macbook servis - kabak koyu
%d bloggers like this: