केजरीवाल दस अक्टूम्बर को किसी भाजपा नेता का बैण्ड बजाएंगे…

admin 14

सोनिया गांधी के दामाद रोबर्ट वाड्रा पर कांग्रेस के सबसे सशक्त परिवार का सदस्य होने के नाते और  भ्रष्टाचार  के जरिए मालामाल होने का सनसनीखेज आरोप लगाने के

बाद अरविन्द  केजरीवाल और उनकी टीम कुछ और नेताओं के बारे ‘राज फाश’ करने वाली है. दरअसल, अरविंद केजरीवाल रॉबर्ड वाड्रा के बारे में राज फाश के बाद मचे राजनीतिक हड़कंप को फिलहाल कुछ दिनों तक शांत नहीं होने देने चाहते हैं. उनके नजदीकी सूत्रों का कहना है कि वह 10 अक्टूबर को बीजेपी के एक बड़े नेता का भंडाफोड़ करेंगे.

 

अरविन्द केजरीवाल अपनी राजनैतिक पार्टी के नाम और चुनाव चिह्न के बारे में भले ही बाद में बताएं लेकिन वह राजनीतिक पार्टियों से जुड़े प्रमुख लोगों पर निशाना लगाने की शुरुआत कर चुके हैं. पहले उनकी टीम ने बीजेपी अध्यक्ष नितिन गडकरी पर आरोप लगाए थे और अब रॉबर्ट वाड्रा पर आरोप लगाया है कि पिछले 5 सालों में उन्होंने 300 करोड़ रुपये की संपत्ति अर्जित की.
वाड्रा पर खुलासे से भले ही अभी बीजेपी खुश है, लेकिन शायद वह इस बात से बेखबर हैं कि केजरीवाल के तरकश का अगला तीर उसे भी घायल कर सकता है. टीम केजरीवाल के एक सूत्र का कहना है कि अगली बारी बीजेपी की हो सकती है. उनका कहना है कि बीजेपी में भी ऐसे लोग हैं जो जम कर भ्रष्टाचार कर रहे हैं.

Facebook Comments

14 thoughts on “केजरीवाल दस अक्टूम्बर को किसी भाजपा नेता का बैण्ड बजाएंगे…

  1. indiraji ke hatyaro aur afjal guru ki vakalat se kamaye hain.aur bhi bahut kuch hai jo yha nhi bata sakta

  2. अरविन्द केजरीवाल एक ऐसा नाम जिसकी पहचान एक सरकारी नौकर के रूप में थी वही केजरीवाल को अचानक साथ मिला अन्ना हजारे जी का ,और अरविन्द केजरीवाल रातो -रात स्टार बन गए ,उनकी सोच भी बदली और किंग मेकर बनने का सपना भी देखने लगे !अपने सपने को साकार करने के लिए उसने अन्नाजी को बरगलाने लगे जिसके कारन अन्ना जी का वजूद ही खतरे में पर गया!अरविन्द केजरीवाल अपनी किंग मेकर की भूमिका वाले सपने को साकार करने के लिए ही उन्होंने सोची हुई रणनीति के तहत एक राजनातिक दल बनाने की घोसना कर दी ,पर अन्नाजी को विश्वाश में लेना भूल गए और परिणाम भी बुरा हुआ !अन्नाजी ने कोई भी राजनितिक दल बनाने या उसमे शामिल होने से इंकार कर दिया!केजरीवाल जी के सपने टूटते हुए दिखाई पड़े !क्योकि राजनितिक पार्टी बनाने के लिए फंड की जरूरत पड़ेगी जो अन्नाजी के नाम के बिना संभव नहीं था !अरविन्द केजरीवाल एक ऐसे पद पर कार्यरत थे जिससे उन्हें कुछ खास लोगो के बारे में थोड़ी-बहुत जानकारियां थी !आज वो जानकारी ही अरविन्द केजरीवाल के किंग मेकर वाली राजनीती के सपने को साकार करने में मदद कर रहे हैं !यह एक हकीकत है की जितने भी बड़े-बड़े इन्दुस्त्रिलिस्ट हैं उनसे कही-न -कही गलतियाँ हुई हैं जो स्वाभाविक थे उसी का फायदा आज अरविन्द केजरीवाल उठा रहे है,क्योकि उन्हें अपनी राजनितिक पार्टी को विस्तार देने के लिए धन की जरूरत है और वो पूंजपतियों से ही मिल सकते हैं?

  3. @am अगर सरकार को लगता है केजरीवाल ने पैसे दबाए हैं या भूषण ने गलत तरीके से पैसे कमाए हैं तो उनकी जांच करा ली जाए सारी एजेंसीयां सरकार के पास है। फिर.
    सरकार अपनी ईमानदारी का परिचय देते हुए जांच कराने के बाद दोषी पाए जाने पर जेल में क्यों नहीं डाल देती।.

  4. और जो खुद सरकार का पैसा केजरीवाल आठ साल दबाए रहे. प्रशांत भूषण क्या इतनी संपत्ति ईमानदारी से बना पाए हैं.

  5. किया अब ये नहीं लगता की आने वाले समय में इएसी तरह के काम होते रहे तो नागरिक [आम आदमी] घर से ये खोजने निकलेगा की अब वो कहना छुपा है ओर्र मिलगे कान्हा आज ही निर्णय करदे चोराहे पर इएन चोरो का हिसाब तो करना ही पड़ेगा गर्दने काटी जाएँगी कही बगावत की नियम सियाम की बाते कोए मेनेगा ही नहीं जनता का संतुलन नियम कानून मान ने ही विशवाश उठ्जाये किया ये सर कार जान न नहीं चाहती भूख लाचारी उपमान सीमाए तोड़ सकती है

  6. janata kewal suchi ban ti rahe ki is ne kitan kiya hai aaj to naye naam se zee ki shrendi aage wadi C W G ./ 2G ../ KOLJI ./ AAJ KA NAYA NAAM HO GAYA ZIZA JI YE KAAND ZIZAJI KE NAAM SE JANA JAYEGA ZIZAJI KAAND

  7. इसमें सूत्र के हवाले से खबर देने की जरूरत ही क्या है एनडीटीवी के प्राईम टाईम रीपोर्टर टीक टैक लाईव में अरविंद ने खुद कहा है कि 10 अक्टूबर को बीजेपी की बारी है।.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

सुजलॉन कंपनी की अपने ठेकेदारों के साथ वार्ता संपन्न...

कंपनी द्वारा दिया गया आगामी दो माह में समस्त भुगतान का आश्वासन..सुजलॉन और ठेकेदारों के बीच लिखित समझौते के बाद माने ठेकेदार… -जैसलमेर से मनीष रामदेव|| जैसलमेर की  ठेकेदार एसोसिएशन व पवन ऊर्जा कंपनी सुजलोन के बीच चल रहा विवाद शुक्रवार को खत्म हो गया. गौरतलब है कि कंपनी पर […]
Facebook
%d bloggers like this: