मौलवी के बेटी से दुष्कर्म का प्रयास, निर्वस्त्र करके गांव में घुमाया

admin 13

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में कुछ युवकों द्वारा मौलवी की लड़की को निर्वस्त्र करके गांव में घुमाने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है. मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि इन लड़कों ने पीडिता के भाई से बदला लेने के लिए यह अमानवीय कृत्य किया. एक अखबार ने बताया कि यह घटना बुधवार की है.

मिली जानकारी के मुताबिक, फैसलाबाद जिले के नवान लाहौर क्षेत्र में खरीददारी करके घर लौट रहीं मौलवी अल्लाह दीता की तीन बेटियों पर पांच युवकों ने तब हमला बोल दिया.

अखबार ने बताया कि इनमें से दो का निकाह गुरुवार को होना था. दो बहनें भागकर पास के घर में जाकर छुप गई जबकि उनकी एक बहन रहिला को हमलावरों ने पकड़ लिया. उन्होंने उसके कपड़े फाड़ डाले और उसके साथ दुष्कर्म का प्रयास किया. इसके बाद उन्होंने उसे गांव में घुमाया और धमकी दी कि अगर किसी ने उनका विरोध किया तो उन्हें भी यही परिणाम भुगतना पड़ेगा.

मौलवी ने बताया कि इन लोगों ने उससे दुष्कर्म की कोशिश की, लेकिन वे नाकाम रहे. इन पांच युवकों में एक ने हाल ही में मौलवी के बेटे पर अपनी बहन के साथ छेडख़ानी करने का आरोप लगाया था. उसके बाद गांव के बुजुर्गों ने मौलवी के बेटे को दो साल के लिए गांव से निकाल दिया था. हालांकि बाद में उन्हें लगा कि उस पर लगाए गए आरोप निराधार हैं तो उन्होंने सजा वापस ले ली थी. यह बात इन पांच युवकों को नागवार गुजरी. गुरुवार को पुलिस ने पांचों युवकों को अपहरण और दुष्कर्म के प्रयास के आरोप में गिरफ्तार कर लिया. मौलवी ने पंजाब के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ और पुलिस अधिकारियों से उन्हें न्याय दिलाने की गुहार लगाई है.

Facebook Comments

13 thoughts on “मौलवी के बेटी से दुष्कर्म का प्रयास, निर्वस्त्र करके गांव में घुमाया

  1. kya hoga pakistan ka havaneyat ki bhi had ho gae ham maa durga ke rup mai nari ki poja karte hai or nari ka es prakar say apman jis des hota hai os des ki takdir or tasver badal jate hai os des say maa luxmi ka haat ot jata hai.

  2. kya hoga pakistan ka havaneyat ki bhi had ho gae ham maa durga ke rup mai nari ki poja karte hai or nari ka es prakar say apman jis des hota hai os des ki takdir or tasver badal jate hai os des say maa luxmi ka haat ot jata hai.

  3. ईस घटना की जीतनी निन्दा कीजये कम है मगर जो सोचने की समझनेकी बात है ये इसलाम धर्मी यो की मज़बूरी है वो हत्तिया चोरी बलात्त्कर के अलावा कुछ जानते भी नहीं है ओर्र बहन किया बेटी किया किसी की पत्त्तनी किया ये रिशते इस्लाम में होते ही नहीं हे ये तो जो खावर पड़ता है वो अपने हिसाब से पड़ने के कारन सोचता है इएसी लिए बुरा लगता है वर्ना मुसलमानों में कोए रिश्ते होते ही नहीं है ये तो जाहिल जानवरओ की जमाते है ये कोम [ग्रुप] कबीलों की ज़िन्दगी ज़ीने वाले ८ /९ वि सताब्बादी की भेड़े आज के समय में इएन की गिनती सभी सभ्य समाज में नहीं की जा सकती है

    1. tera comment padh kar hi pata chal raha hai ki tu kitna bada jahil hai. lagta hai teri maan behen ko bhi kisi ne aise hi ghumaya hai tabhi itna uchhal raha hai. tum jaise logon ko har jagar har khabar men yahi sab kuchh soojhta hai. sale tum jaise log aise hi kudhte rehte hain sari zindagi. waise to main kai tiwari ko janta hun jo achhe hain lekin tu wo tiwari hai jo bhayanak beemari hai. balki beemari nahin mahamari hai.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

निर्मम और भावनाशून्य मनमोहन सिंह...

आखिर क्या हैं पैसे पेड़ पर नहीं उगते के निहितार्थ ? * अभावपूर्ण मध्यमवर्ग के लिए मनमोहनसिंह का उच्चवर्गीय, निर्मम व भावहीन भाषण * खाद के मूल्य, गरीबी, महंगाई, भ्रष्टाचार जैसे अनेक विषय क्यों दूर रहे मनमोहन सिंह के भाषण से!!!   घोर, घनघोर भौतिकता की ओर तेजी से बढती  […]
Facebook
escort eskişehir - lidyabet - macbook servis - kabak koyu
%d bloggers like this: