Home मीडिया क्या कुलदीप विश्नोई ने करवाई थी फिजां की हत्या?

क्या कुलदीप विश्नोई ने करवाई थी फिजां की हत्या?

अनुराधा बाली उर्फ़ फिजा की मौत में चाँद मोहम्मद उर्फ़ चन्द्र मोहन के छोटे भाई और हजका के अध्यक्ष कुलदीप विश्नोई का नाम सामने आ रहा है. इस बीच इस मामले की जांच कर रही पुलिस अब भी ठोस सुराग की तलाश में है. पुलिस की टीम ने इसके लिए गुरुवार को भी फिजा के घर की फिर से खाक छानी. घर की तलाशी के दौरान पुलिस को अलमारियों से नोटों के ढेरों बंडल मिले हैं जिन्हें हाथ से गिनना संभव नहीं था. इस पर पुलिस ने नोट गिनने के लिए दो मशीने भी मंगवाई. सूत्रों के मुताबिक पुलिस को फिजा के घर से करीब सवा करोड़ रुपये नकद और एक किलो से अधिक सोने के जेवरात मिले हैं.  पुलिस ने फिजा के चाचा सतपाल को भी पूछताछ के बाद हिरासत में ले लिया है. पुलिस का कहना है कि फिजा का चाचा ना केवल बार बार बयान बदल रहा है बल्कि उसने डुप्लीकेट चाबी से फिजा का घर खोलने की भी कौशिश की थी.

इसी बीच फिजा का अंतिम वीडियो भी सामने आया है जिसे देखने पर पता चला कि फिजा अपने मित्र अजीत हुड्डा के साथ मोहाली के राजश्री रेस्टोरेंट में खाना खाने गई थीं. फिजा ने इस वीडियो में जो कपड़े पहन रखे हैं उन्हीं कपड़ों में उनकी लाश मिली थी. एक अगस्त के इस सीसीटीवी वीडियो फुटेज के मुताबिक फिजा और अजीत शाम पांच बजकर 47 मिनट पर रेस्टोरेंट में दाखिल हुए. शाम 6 बजकर 43 मिनट पर फिजा रेस्टोरेंट से बाहर आती दिख रही हैं. अजीत करीब पांच मिनट बाद 6 बजकर 47 मिनट पर बाहर निकलते दिख रहे हैं. अजीत के हाथ में एक पॉली बैग भी दिख रहा है जिसमें खाने का सामान था. फिजा के घर से पुलिस ने इस पॉलीबैग को भी बरामद किया है. फिलहाल इसे जांच के लिए सीएफएल भेजा गया है जिसकी रिपोर्ट चार दिन के भीतर आ जाएगी.

बुलंदशहर के एक समाजसेवी सलीम अल्वी के सनसनीखेज दावे ने फिजा उर्फ अनुराधा बाली की मौत के मामले में नया मोड़ ला दिया है. अल्वी ने दावा किया है कि फिजा की मौत मे चंद्रमोहन के भाई कुलदीप विश्नोई का हाथ है.

सलीम अल्वी उन लोगों में शामिल हैं, जिनसे फिजा ने मौत से पहले बात की थी. इसी आधार पर मोहाली अपराध शाखा ने फिजा के मोबाइल फोन की कॉल ट्रेस कर सलीम अल्वी से संपर्क साधा और जाँच में सहयोग के लिए कहा है. 31 जुलाई की दोपहर करीब ढाई बजे और एक अगस्त की शाम 4-5 बजे के बीच सलीम अल्वी ने फिजा से मोबाइल पर बातचीत की थी. सलीम का दावा है, ‘तब फिजा बेहद परेशान और डरी हुई थी. अपने को असुरक्षित बता रही थी. तब मैंने कहा कि दिल्ली में रहने से काफी हद तक सुरक्षित रहेंगी. अपनी बात दिल्ली में मीडिया के सामने रखने की सलाह भी दी थी.’ फिजा को ‘बड़ी बहन’ बताने वाले सलीम ने बताया कि फिजा नौ अगस्त को बुलंदशहर आने वाली थी. फिजा बुलंदशहर से विधानसभा चुनाव लड़ने का मन बना रहीं थी. अल्वी दो वर्ष से अधिक समय से फिजा के संपर्क में था.

Facebook Comments
(Visited 1 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.