नक्सल मोर्चे से परे भी एक जरूरत है..

-सुनील कुमार॥ छत्तीसगढ़ के बस्तर में दो दिन पहले नक्सल हमले में बाईस सुरक्षाकर्मियों की शहादत के बाद आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बस्तर

Read More

पाश: जो कभी विदा नहीं लेगा..

-कपिल॥ जिन्होनें उम्र भर तलवार का गीत गाया है उनके शब्द लहू के होते हैं लहू लोहे का होता है जो मौत के किनारे जीते

Read More

भीख मांगना रोजगार है तो विश्वगुरु बनोगे या भीखगुरु..

20 करोड़ भिखारियों वाला दश क्या अच्छे दिनों का दावा कर सकता है? -सुनील कुमार॥सोशल मीडिया इस मायने में बड़ा दिलचस्प है कि कई बरस

Read More

भाजपा के राज में बेटियों की दुर्दशा..

इस देश में लड़कियों की क्या हैसियत है। क्या लड़की होना गुनाह है। क्या देश में वही माहौल फिर बनाया जा रहा है कि लड़की

Read More

बढ़ी हुई सहूलियतें हमेशा विकास नहीं, विनाश भी होती हैं..

-सुनील कुमार॥ जैसे-जैसे दुनिया आगे बढ़ रही है हिन्दुस्तान जैसे दर्जे के देश भी सहूलियतों से भरते जा रहे हैं। पहले लोग ट्रेन या बसों

Read More

बाबा रामदेव नहीं चूकता ठगी का कोई मौका..

बाबा रामदेव का झूठ बनाम सरकार में उनकी पहुंच.. -संजय कुमार सिंह॥बाबारामदेव और उनकी पतंजलि का एक दावा चर्चा में है। योग गुरु ने शुक्रवार

Read More

आखिर नमो सरकार इतनी डरी हुई क्यों है?

क्या यह सरकार इतनी भीरु है कि किसी शैक्षणिक और वैज्ञानिक अंतरराष्ट्रीय वेबिनार या सेमिनार आयोजित करने के लिए पहले उससे अनुमति ली जाए.? भारत

Read More

इस धरती का जीवन खत्म करने में जुटे देश तलाश रहे दूसरे ग्रहों पर जीवन..

-सुनील कुमार॥पर्यावरण के लिए लड़ते हुए बरसों से खबरों में बनी हुई योरप की किशोरी ग्रेटा थनबर्ग की ताजा आलोचना अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के

Read More

दलबदल कानून की सलाखों के आरपार परकाया प्रवेश जारी..

-सुनील कुमार॥देश के पिछले आम चुनाव में न सिर्फ एनडीए गठबंधन को, बल्कि उसकी मुखिया भाजपा को अपने दम पर इतनी सीटें मिल गई थीं

Read More

राहुल गांधी के ट्रोल का भविष्य क्या होगा?

अगर आपने अपने बच्चे को ‘देश सेवा’ के महान काम में लगाया है तो उसका भविष्य भी सोचिएकौशल विकास मंत्रालय याद है? कौन मंत्री है

Read More

तुम हमे चंदा दो हम तुम्हे दंगा देंगे..

-प्रेमसिंह सियाग॥ 1992 में राम मंदिर के लिए वीएचपी ने 1400 करोड़ रुपये व सोने-चांदी की ईंटे चंदे से एकत्रित की थी जिसकी कीमत आज

Read More

मेट्रोमैन श्रीधरन के भाजपा में जाने से उदास लोगों के लिए…

-सुनील कुमार॥भारत के सरकारी क्षेत्र में काम करने वाले कम ही लोग इज्जत पाते हैं। यहां सरकारी से मतलब गैरकारोबारी है, ऐसे क्षेत्र जो कि

Read More

%d bloggers like this:
Visit Us On TwitterVisit Us On FacebookVisit Us On YoutubeVisit Us On LinkedinCheck Our FeedVisit Us On Instagram